देश भर में लॉकडाउन 31 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया है. राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) ने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए मंत्रालयों को लॉकडाउन बढ़ाने के निर्देश दिए हैं.

एनडीएमए के निर्देश से पहले ही आज पंजाब, महाराष्‍ट्र और तमिलनाडु ने अपने यहां लॉकडाउन 31 मई तक बढ़ा दिया. तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने इसकी जानकरी देते हुए मीडिया से कहा कि तमिलनाडु में 31 मई तक लॉकडाउन को बढ़ा दिया गया है. नए आदेश के तहत राज्य में स्कूल, कॉलेज, धार्मिक स्थल, सिनेमा, थिएटर और बार पहले की तरह ही बंद रहेंगे. हालांकि, कोयंबटूर, सलेम, त्रिची समेच राज्य के 25 जिलों में लॉकडाउन के दौरान प्रतिबंधों में छूट देने का निर्णय लिया गया है. तमिलनाडु में कोविड-19 के मामले दस हजार से ऊपर पहुंच चुके हैं और 74 लोग इस महामारी से अपनी जान गंवा चुके हैं.

इससे पहले आज ही महाराष्ट्र सरकार की ओर से भी लॉकडाउन बढ़ाने को लेकर एक आदेश पत्र जारी किया गया. इसमें कहा गया है कि राज्य में कोविड-19 के संक्रमण की स्थिति को देखते हुए लॉकडाउन बढ़ाना जरूरी है और सरकार इसे 31 मई तक बढ़ा रही है. महाराष्ट्र सरकार के सभी विभागों को लॉकडाउन को प्रभावी रूप से और सख्ती से लागू करवाने के लिए कहा गया है.

महाराष्ट्र कोरोना वायरस से देश में सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य है. यहां कोरोना मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है. पिछले कुछ दिनों से राज्य में रोजाना कोरोना के लगभग 1,500 मामले सामने आ रहे हैं. महाराष्ट्र में अभी कोरोना वायरस के कुल मामले 30,706 दर्ज किये गए हैं. इनमें से 7,088 लोग इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं, जबकि इलाज के दौरान 1,135 लोगों की मौत हो गई है.

उधर, पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी लॉकडाउन को बढ़ाने की घोषणा की है. उन्होंने कहा कि लॉकडाउन 31 मई तक जारी रहेगा, लेकिन इस दौरान कर्फ्यू हटा दिया जाएगा. पंजाब के मुख्यमंत्री ने हॉटस्पॉट इलाकों को छोड़कर बाकी क्षेत्रों में अधिक ढील देने और सीमित सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था बहाल करने के संकेत भी दिए हैं. उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि शैक्षिक संस्थाएं फिलहाल बंद रहेंगी.