पूरे देश में लॉकडाउन को 31 मई तक ले लिए बढ़ा दिया गया है. इस बाबत केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से नए दिशानिर्देश जारी किए गए हैं. अब राज्यों को पहले के मुकाबले फैसले लेने की ज्यादा छूट दी गई है. केंद्र ने लॉकडाउन के दौरान राज्यों को रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन बनाने का अधिकार दिया है. साथ ही अब राज्य ही यह तय करेंगे कि किन इलाकों में बसों का परिचालन शुरू किया जाएगा. राज्य खुद आपसी सहमति से अंतरराज्यीय यात्री वाहनों, बस सेवाओं की आवाजाही को अनुमति दे सकते हैं. हालांकि, इस दौरान कोरोना हॉटस्पॉट इलाकों में बसें चलाने की अनुमति नहीं होगी. इसके अलावा सैलून और पार्लर की दुकानों को खोलने का फैसला भी केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों पर छोड़ दिया है.

18 से 31 मई तक लॉकडाउन के दौरान केंद्र ने घरेलू-विदेशी उड़ानों, मेट्रो और ट्रेनों पर पाबंदी बरकरार रखी है. स्कूल, कॉलेज, रेस्तरां, जिम, सिनेमा हॉल, शॉपिंग मॉल, स्विमिंग पूल, एंटरटेनमेंट पार्क, थियटर, बार और सभागार भी पहले की तरह ही बंद रहेंगे. हालांकि, अब सभी होटल और रेस्तरां खाने की होम डिलिवरी कर सकेंगे.

गृह मंत्रालय के नए दिशानिर्देशों के मुताबिक अब से खेल के मैदान बिना दर्शकों के खोले जा सकते हैं. साथ ही किसी शादी समारोह में अब 50 लोग शामिल हो सकते हैं. सरकार ने पान और गुटका की बिक्री और मिठाई की दुकानों को भी शर्तों के साथ खोलने की अनुमति दे दी है.