चीन की एक लैब ने कहा है कि उसके द्वारा विकसित की जा रही एक दवा कोरोना वायरस संकट का अंत कर सकती है. यह लैब चीन की प्रतिष्ठित पेकिंग यूनिवर्सिटी की है. इसमें काम कर रहे वैज्ञानिकों का कहना है कि यह नई दवा न सिर्फ कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्तियों में बीमारी से उबरने में लगने वाला समय कम कर सकती है बल्कि थोड़े समय के लिए इस वायरस से इम्यूनिटी भी दे सकती है. इस लैब के निदेशक सन्नी शी के मुताबिक जानवरों पर इस दवा का परीक्षण सफल रहा है. इस दवा में उन एंटीबाडीज यानी रोग प्रतिरोधी कोशिकाओं का इस्तेमाल किया गया है जिन्हें कोरोना वायरस से उबरने वाले 60 मरीजों के खून से निकाला गया है.

कोरोना वायरस संकट की शुरुआत बीते दिसंबर में चीन से ही हुई थी. धीरे-धीरे यह बाकी देशों में भी फैल गया. अब तक पूरी दुनिया में इस वायरस के संक्रमण के चलते तीन लाख से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है. करीब 48 लाख लोग इसकी चपेट में हैं. कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित अमेरिका है जहां मौतों का आंकड़ा 90 हजार से ज्यादा है और कुल मामले 15 लाख के पार जा चुके हैं.