पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर छत्तीसगढ़ सरकार ने किसानों के लिए अपनी एक महत्वाकांक्षी योजना शुरु की है. कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज ‘राजीव गांधी किसान न्याय योजना’ की शुरुआत की. इस दौरान सोनिया गांधी ने कहा, ‘राजीव जी के दिल में अन्नदाता किसान, खासतौर पर महिला और आदिवासी किसानों के लिए बहुत प्यार था, इसलिए वह समय-समय पर इन सबके बीच में जाकर सीधे संवाद करते थे और तकलीफों की जानकारी लेते थे. वे मानते थे कि किसान और खेती ही भारत के विकास की असली पूंजी है.’

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने किसान न्याय योजना की जानकारी देते हुए कहा, ‘राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत छत्तीसगढ़ में 19 लाख धान, मक्का, गन्ना पैदा करने वाले किसानों के खाते में सीधे 7500 रुपये डाले जाएंगे...उम्मीद है भारत सरकार इस अनूठी पहल से सीख लेगी.’

योजना की शुरुआत करते हुए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि इस योजना में धान फसल के लिए 18 लाख 34 हजार 834 किसानों को प्रथम किश्त के रूप में 1500 करोड़ रुपये की राशि प्रदान की जाएगी. योजना से प्रदेश के 9 लाख 53 हजार 706 सीमांत किसानों, 5 लाख 60 हजार 284 लघु किसानों और 3 लाख 20 हजार 844 बड़े किसानों को फायदा मिलेगा.

छत्तीसगढ़ कांग्रेस की ओर से कहा गया है, ‘जब नोबेल पुरस्कार विजेता अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी से राहुल गांधी ने बातचीत की, तो उन्होंने भी कहा कि किसानों को सशक्त बनाने का एक मात्र रास्ता है उनके खाते में सीधे राशि पहुंचाना. आज हमने यह कर दिखाया है.’