चीन इस साल आर्थिक वृद्धि या विकास दर का कोई लक्ष्य तय नहीं करेगा. खबरों के मुताबिक आज वहां संसद की सालाना बैठक में यह फैसला हुआ. तीन हजार सदस्यों वाली नेशनल पीपल्स कांग्रेस की इस बैठक में बजट को मंजूरी देने के साथ विकास दर का लक्ष्य भी तय किया जाता है. लेकिन इस बार ऐसा नहीं हुआ है. चीन के प्रधानमंत्री ली केचियांग का कहना है कि कोरोना वायरस के चलते अनिश्चितताओं से भरे इस समय में प्रगति का अनुमान लगाना मुश्किल है. उन्होंने यह भी कहा कि इससे सभी अर्थव्यवस्थाएं प्रभावित हुई हैं.

चीन ने आर्थिक वृद्धि के लक्ष्य को 1990 से सार्वजनिक करना शुरू किया था. तब से यह पहली बार है जब चीन विकास दर का कोई लक्ष्य तय नहीं करेगा. संसद की बैठक में यह भी तय हुआ है कि सरकार कोरोना वायरस से उपजे हालात का मुकाबला करने के लिए एक खबर युआन खर्च करेगी. यह रकम विशेष ट्रेजरी बॉन्ड्स के जरिये जुटाई जाएगी.

चीन से ही बीते साल दिसंबर में कोरोना वायरस फैलना शुरू हुआ था. तब से यह पूरी दुनिया में फैल चुका है. अब तक इसके मामलों का आंकड़ा 50 लाख को पार कर गया है और करीब तीन लाख 30 हजार लोगों की मौत हो चुकी है.