हॉकी के महानतम खिलाड़ियों में गिने जाने वाले बलबीर सिंह सीनियर का निधन हो गया है. 96 साल के इस दिग्गज ने आज मोहाली के एक अस्पताल में अंतिम सांस ली. न्यूमोनिया और तेज बुखार की शिकायत के बाद उन्हें दो हफ्ते पहले यहां भर्ती किया गया था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह सहित कई हस्तियों ने बलबीर सिंह सीनियर के निधन पर दुख जताया है.

बलबीर सिंह सीनियर लंदन (1948), हेलसिंकी (1952) और मेलबर्न (1956) ओलंपिक में सोना जीतने वाली भारतीय टीम का हिस्सा थे. 1हेलसिंकी ओलंपिक के फाइनल में उन्होंने हॉलैंड के खिलाफ पांच गोल किए थे. यह रिकॉर्ड आज तक नहीं टूटा है. भारत ने यह मुकाबला 6-1 से जीता था. चार साल बाद मेलबर्न ओलंपिक में उन्होंने भारतीय दल की अगुआई की. उनकी कप्तानी में भारत ने फाइनल में पाकिस्तान को 1-0 से हराकर लगातार तीसरी बार स्वर्ण पदक जीता था.

1956 के मेलबर्न ओलंपिक में बलबीर सिंह सीनियर

बलबीर सिंह सीनियर ने भारत के लिए 61 मैचों में 246 गोल किए. अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक कमेटी ने उन्हें आधुनिक ओलंपिक इतिहास के 16 महानतम खिलाड़ियों में शामिल किया था. इस सूची में शामिल होने वाले वे देश के इकलौते खिलाड़ी थे. उन्हें पद्मश्री से भी सम्मानित किया गया था.