देश के सभी हवाई अड्डों पर आज विमानों की आवाजाही शुरू हो गयी है. इस बीच दूसरे राज्यों से विमानों के जरिये आने वाले यात्रियों के लिए महाराष्ट्र सरकार ने दिशानिर्देश जारी किए हैं. इनके मुताबिक हर यात्री की थर्मल स्क्रीनिंग होगी और हाथ पर होम क्वारंटीन की मुहर लगाई जाएगी. सभी यात्रियों के लिए महाराष्ट्र आने की वजह बतानी होगी और 14 दिन के लिए होम क्वारंटीन में रहना अनिवार्य होगा.

हालांकि, दिशानिर्देशों में कहा गया है कि यदि कोई यात्री किसी दफ्तर में काम करता है तो स्थानीय प्रशासन होम आइसोलेशन में कुछ रियायत भी दे सकता है. इसके अलावा यदि कोई यात्री महाराष्ट्र आता है और एक सप्ताह में वापस लौट जाता है तो उसे होम आइसोलेशन में रहना जरूरी नहीं है. लेकिन ऐसे यात्रियों को अपना पूरा विवरण राज्य सरकार को मुहैया कराना होगा. इस दौरान इन यात्रियों को कोरोना के हॉटस्पॉट इलाकों में जाने की इजाजत नहीं होगी.

महाराष्ट्र सरकार की तरफ से जारी दिशानिर्देशों में आगे कहा गया है कि यदि कोई यात्री रिहायशी परिसर में रहने नहीं जा रहा है तो उसे अपने रहने के स्थान के बारे में प्रशासन को सूचित करना होगा ताकि सैनिटाइजेशन का काम किया जा सके.

यात्रियों को हवाई अड्डे तक सड़क मार्ग से जाने की अनुमति दी गयी है, लेकिन इस दौरान उन्हें कंटेनमेंट जोन से गुजरने की इजाजत नहीं होगी. रेड जोन में रहने वाले यात्रियों को बाहर जाने से पहले प्रशासन से अनुमति लेना जरूरी होगा.

इससे पहले महाराष्ट्र सरकार की ओर से जानकारी दी गई थी कि मुंबई हवाई अड्डे से सोमवार से रोजाना 50 उड़ानों का संचालन किया जाएगा. महाराष्ट्र भारत में कोविड-19 संक्रमण से सबसे अधिक प्रभावित राज्य है. यहां पर कोरोना वायरस संक्रमण के मामले 50 हजार का आंकड़ा पार कर चुके हैं.