कोरोना वायरस संकट के इस दौर में किसानों के लिए टिड्डियां एक नई मुसीबत लेकर आ गई हैं. खबरों के मुताबिक राजस्थान और मध्य प्रदेश में फसलों का एक बड़ा हिस्सा चट करने के बाद अब ये उत्तर प्रदेश में दाखिल हो गई हैं. इसे देखते हुए जालौन, ललितपुर, हमीरपुर, इटावा और कानपुर देहात जैसे जिलों में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है. सहारनपुर, शामली, मेरठ, मुजफ्फरनगर और बागपत जिले में भी सतर्कता बढ़ा दी गयी है.

भारत में इस साल टिड्डियों का पहला हमला अप्रैल की शुरुआत में राजस्थान में हुआ था. ये टिड्डियां पाकिस्तान से भारत में दाख़िल हुई हैं. आमतौर पर टिड्डियों का असर पश्चिमी राजस्थान के जिलों तक रहता है. लेकिन इस बार ये जयपुर और उससे आगे भी पहुंच गई हैं.

टिड्डियां हर साल राजस्थान में फसलों को बहुत नुकसान पहुंचाती हैं. पिछले साल यह नुकसान एक हजार करोड़ रु के करीब होने का अनुमान लगाया गया था. फसलें चट करती हुईं ये टिड्डियां एक दिन में 200 किलोमीटर तक की दूरी तय कर सकती हैं. यानी ये बहुत कम समय में बहुत बड़े इलाके में खेती-बाड़ी तबाह कर सकती हैं.