लॉकडाउन पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी के सवाल उठाने के बाद केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने उन पर पलटवार किया है. एक समाचार चैनल से बातचीत में उन्होंने कहा कि राहुल गांधी की तो उनकी पार्टी के मुख्यमंत्री ही नहीं सुनते. रविशंकर प्रसाद का कहना था, ‘अमरिंदर सिंह ने पंजाब में सबसे पहले कर्फ्यू लगा दिया. लॉकडाउन लगाया. राजस्थान ने भी यही किया. महाराष्ट्र में यह हुआ या नहीं हुआ? उन्होंने प्रधानमंत्री की बैठक से पहले ही कह दिया कि 31 मई तक हमने बढ़ा दिया.’

राहुल गांधी लॉकडाउन को लेकर लगातार मोदी सरकार पर सवाल उठा रहे हैं. उनका कहना है कि सरकार ने इसकी योजना ठीक से नहीं बनाई जिससे लोगों के सामने बड़ा संकट खड़ा हो गया. राहुल गांधी यह भी कह रहे हैं कि इस समय सीधे गरीबों के खाते में पैसा पहुंचाया जाना चाहिए, लेकिन मोदी सरकार 20 लाख करोड़ रु का जो पैकेज लाई है उसमें राहत से ज्यादा जोर कर्ज देने पर है.

उधर, रविशंकर प्रसाद ने कहा कि यह वक्त एकजुटता का है. उनका कहना था, ‘राहुल गांधी ने लॉकडाउन का विरोध किया. डॉक्टरों, कोरोना वॉरियर्स के सम्मान में ताली-थाली बजाने का विरोध किया. देश में दीप जला, देश में झोपड़ियों में भी दीप जले लेकिन उसका भी विरोध किया.’ रविशंकर प्रसाद ने आरोप लगाया कि राहुल गांधी सिर्फ राजनीति कर रहे हैं.