केंद्र सरकार ने 31 मई के बाद लॉकडाउन को लेकर दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं. इनके मुताबिक कंटेनमेंट जोन में 30 जून तक लॉकडाउन बढ़ा दिया गया है. बाकी इलाकों में चरणबद्ध तरीके से वे गतिविधियां फिर से शुरू की जाएंगी जिन पर पाबंदी लगी हुई थी.

पहले चरण में आठ जून से धार्मिक स्थल और पूजा-अर्चना के केंद्र, होटल, रेस्टोरेंट, हॉस्पिटैलिटी से जुड़े क्षेत्र और शॉपिंग माल्स खोले जाएंगे. सरकार इसे अनलॉक चरण एक कह रही है. आठ जून से एक राज्य से दूसरे राज्य में जाने के लिए अलग से किसी अनुमति या पास की जरूरत भी नहीं होगी. केंद्र के मुताबिक अगर कोई राज्य या केंद्र शासित प्रदेश अब भी इस पर कोई प्रतिबंध लगाना चाहता है तो उसे पहले इस फैसले की जानकारी सार्वजनिक करनी होगी. यात्रियों को उचित दूरी बरतने और मास्क लगाने जैसी सावधानियां रखनी होंगी.

दूसरे चरण में स्कूल, कॉलेज, शैक्षणिक संस्थानों, ट्रेनिंग सेंटरों और कोचिंग सेंटरों को खोला जाएगा. शैक्षणिक संस्थानों को जुलाई से खोलने को लेकर राज्य और केंद्र शासित प्रदेश अभिभावकों और अन्य संबंधित पक्षों से विचार-विमर्श करेंगे. तीसरे चरण में हालात का जायजा लने के बाद अंतरराष्ट्रीय उड़ानों, मेट्रो सेवाओं, सिनेमा हॉल्स आदि को शुरु करने का फैसला होगा.

कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए देश भर में 25 मार्च से लॉकडाउन जारी है. फिलहाल इसका चौथा चरण चल रहा है जो 31 मई को खत्म हो रहा है