कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए राजधानी दिल्ली की सीमाएं एक हफ्ते के लिए सील कर दी गई हैं. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज यह ऐलान किया. इस दौरान केवल जरूरी सेवाओं से जुड़े वाहनों और व्‍यक्तियों को जाने की परमिशन होगी. अरविंद केजरीवाल ने इस मुद्दे पर लोगों की राय भी मांगी है. उन्होंने कहा, ‘हम बॉर्डर खोलेंगे, देशभर से लोग दिल्ली में इलाज के लिए आएंगे. जो साढ़े सात हजार बेड रखे गए हैं, ये दो दिन के अंदर भर जाएंगे. हमें क्या करना चाहिए? क्या बॉर्डर खोलने चाहिए? कुछ लोगों का कहना है कि बॉर्डर खोल देना चाहिए. कुछ लोगों का सुझाव है कि कोरोना काल तक दिल्ली में सिर्फ दिल्ली के मरीजों का इलाज हो. क्‍या किया जाना चाहिए, आपका सुझाव चाहिए.’

अरविंद केजरीवाल ने यह भी कहा कि दिल्ली में सैलून खुलेंगे मगर स्‍पॉ खोलने की परमिशन नहीं होगी. मुख्यमंत्री का यह भी कहना था कि ऑटो, ई-रिक्‍शा और अन्‍य गाड़‍ियों में तय सवारियों की संख्या वाला नियम भी वापस ले लिया गया है. दिल्ली में मोटरसाइकिल पर अब दो लोगों को बैठने की अनुमति दे दी गई है. कार में सिर्फ दो सवारियों की सवारी से जुड़ा नियम भी खत्‍म कर दिया गया है.

दिल्ली में कोरोना वायरस के 18 हजार से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं. इसके संक्रमण के चलते 416 लोगों की मौत भी हुई है.