केरल में एक गर्भवती हथिनी की दर्दनाक मौत पर पूरे देश में आक्रोश है. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि दोषियों को सख्त से सख्त सजा दिलाने में कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी. केंद्र सरकार ने केरल सरकार से मामले की रिपोर्ट भी मांगी है. उधर, राज्य के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने पुलिस को इस घटना के दोषियों का जल्द से जल्द पता लगाने और उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं. उन्होंने यह भी कहा है कि एक विशेष जांच दल मौके पर भेजा गया है.

यह केरल के पलक्कड़ जिले की घटना है. गर्भवती हथिनी खाने की तलाश में एक गांव में आई थी. इसी दौरान कुछ शरारती तत्वों ने उसे पटाखों से भरा अन्नानास खिला दिया. ये पटाखे हथिनी के मुंह में फट गए और वह गंभीर रूप से घायल हो गई. इसके बाद वह नजदीक ही बहने वाली वेलियार नदी में खड़ी हो गई. 25 मई को वन विभाग ने कुछ हाथियों की मदद से उसे निकालने की कोशिशें शुरू कीं, लेकिन ये नाकामयाब रहीं. एक हफ्ते बाद हथिनी ने पानी में खड़े-खड़े दम तोड़ दिया.

पशु अधिकारों के लिए आवाज उठाने वालीं भाजपा नेता मेनका गांधी ने इस मामले में केरल सरकार की आलोचना की है. उन्होंने केरल के वनमंत्री, अतिरिक्त मुख्य सचिव और मुख्य वन संरक्षक का मोबाइल नंबर, लैंडलाइन नंबर और ईमेल सार्वजनिक करते हुए लोगों से उन्हें फोन करके शिकायत करने की अपील भी की है. रतन टाटा और अनुष्का शर्मा सहित कई दूसरी हस्तियों ने भी मामले पर दुख जताते हुए दोषियों को सख्त से सख्त सजा देने की मांग की है.