भगोड़े घोषित हो चुके कारोबारी विजय माल्या के प्रत्यर्पण को लेकर ब्रिटेन का एक अहम बयान आया है. दिल्ली स्थित ब्रिटिश उच्चायोग के प्रवक्ता ने कहा कि अभी इस दिशा में एक कानूनी मुद्दा शेष है. हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि वह मुद्दा क्या है. उन्होंने इसे गोपनीय करार दिया.

विजय माल्या पर अलग-अलग बैंकों का करीब नौ हजार करोड़ रु बकाया है. मार्च 2016 में वे उस वक्त देश छोड़ कर भाग गए थे जब सभी बैंकों ने यह बकाया वसूलने के लिए एक साथ मिलकर कानूनी कार्यवाही शुरू की. उनके प्रत्यर्पण पर लंदन की एक अदालत में पिछले तीन साल से सुनवाई चल रही है. इस बीच कर्ज की वसूली के लिए उनकी कई परिसंपत्तियों को नीलाम किया जा चुका है.