गुजरात में कांग्रेस को झटका लगा है. उसके तीन विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है. 182 सदस्यों वाली गुजरात विधानसभा में अब कांग्रेस के 65 विधायक रह गए हैं.

यह घटना राज्य सभा चुनाव से ठीक पहले हुई है. 19 जून को गुजरात में राज्य सभा की चार सीटों के लिए चुनाव होना है. उसी दिन दूसरे राज्यों की 20 अन्य राज्य सभा सीटों पर भी चुनाव होगा. इससे पहले कांग्रेस को मार्च में झटका लगा था जब उसके पांच विधायकों ने इस्तीफा दे दिया था.

ताजा घटनाक्रम के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने भाजपा पर विधायकों की ख़रीद-फरोख्त का इल्ज़ाम लगाया है. एक ट्वीट कर उन्होंने कहा, ‘गुजरात सरकार दुनिया की एकमात्र सरकार है जिसने माहमारी के वक़्त लोगों को अकेले छोड़ दिया है. सरकार प्रवासी गरीब मज़दूरों को रेल का किराया नहीं दे रही है लेकिन विधायकों को ख़रीदने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है.’ कांग्रेस ने अपने विधायकों पर निगरानी कड़ी कर दी है.

गुजरात में सत्ताधारी भाजपा के 102 विधायक हैं. भाजपा ने तीन सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं और तीनों की जीत के लिए भाजपा को दो और वोटों की जरूरत थी. दूसरी तरफ कांग्रेस के दो उम्मीदवार मैदान में हैं.