दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने निजी अस्पतालों को चेतावनी दी है कि वे कोरोना वायरस के मरीजों को भर्ती करने से इनकार न करें. आज एक वीडियो जारी कर उन्होंने कहा, ‘कुछ हॉस्पिटल बेड्स की ब्लैक मार्केटिंग कर रहे है. मैं उनको चेतावनी देना चाहता हूं ऐसे हॉस्पिटल को बख्शा नहीं जाएगा.’ अरविंद केजरीवाल का आगे कहना था, ‘अस्पताल इलाज करवाने के लिए बनाए हैं पैसे कमाने के लिए नहीं.’ उन्होंने कहा कि दिल्ली के कुछ अस्पताल इतने शक्तिशाली हो गए हैं कि उन्होंने धमकी दी है कि वे कोरोना के मरीज़ नहीं लेंगे. अरविंद केजरीवाल का कहना था. ‘मैं उनको कहना चाहता हूं कोरोना के मरीज़ तो तुमको लेने पड़ेंगे.’

देश की राजधानी दिल्ली कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों में शुमार है. यहां अब तक कोरोना वायरस के 26 हजार से ज्यादा मामले आ चुके हैं. 700 से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं. दिल्ली सरकार बार-बार कह रही है कि जांच से लेकर अस्पतालों में बेड तक किसी भी संसाधन की कमी नहीं है. इसके बावजूद खबरें आ रही हैं कि कोरोना वायरस के मरीजों के परिजन उन्हें भर्ती कराने के लिए एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल भटक रहे हैं.