कोरोना वायरस से निपटने की रणनीति को लेकर कांग्रेस की आलोचना पर गृह मंत्री अमित शाह ने पलटवार किया है. दिल्ली से ओडिशा में एक वर्चुअल रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कहा, ‘कोरोना वायरस महामारी से निपटने और प्रवासी मजदूरों के मुद्दे पर हमसे गलती हुई होगी, कुछ कमी रह गई होगी, लेकिन हमारी निष्ठा साफ थी.’ अमित शाह का आगे कहना था, ‘हम कहीं कम पड़ गए होंगे. कुछ नहीं कर पाए होंगे. मगर आपने (विपक्ष ने) क्या किया?’

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि सरकार ने देश के 60 करोड़ लोगों के लिए एक लाख 70 हजार करोड़ का पैकेज दिया. उनका कहना था, ‘विपक्ष के कुछ वक्रदृष्टा आज हम पर सवाल उठाते हैं तो मैं उन्हें पूछता हूं कि उन्होंने क्या किया? कोई स्वीडन में, कोई अमेरिका में लोगों से बात करता है, इसके अलावा और क्या किया आपने?...आप हमें सवाल पूछते हैं. इंटरव्यू के अलावा कांग्रेस पार्टी ने कुछ नहीं दिया.’

अमित शाह ने यह भी कहा कि अन्य देशों के मुकाबले भारत की स्थिति बेहतर है. उनका कहना था कि सरकार भी कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ रही है और लोग भी सतर्क हैं. अमित शाह ने कहा, ‘जब भी इस महामारी का इतिहास लिखा जाएगा, जनता कर्फ्यू के बारे मे सुनहरे अक्षरों में लिखा जाएगा.’