लद्दाख में सीमा पर चीन के साथ विवाद को लेकर सरकार और विपक्ष के बीच तनातनी जारी है. केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर पलटवार किया है. उन्होंने कहा है कि कांग्रेस नेता को ऐसे मुद्दों को लेकर ट्विटर पर सवाल नहीं पूछने चाहिए. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक रविशंकर प्रसाद ने कहा, ‘राहुल गांधी को इतना तो समझदार होना चाहिए कि चीन जैसे सामरिक मामलों में ट्विटर से सवाल नहीं पूछा करते.’ उनका आगे कहना था कि राहुल गांधी वही शख्स हैं जिन्होंने बालाकोट हवाई हमले का सबूत मांगा था.

इससे पहले राहुल गांधी ने एक ट्वीट कर कहा था कि चीन ने लद्दाख में भारतीय इलाके पर कब्जा कर लिया है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खामोश हैं. इससे पहले एक ट्वीट में उन्होंने केंद्र से इस मुद्दे पर स्थिति साफ करने की मांग की थी. इस पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा था कि उन्हें जो कहना है वे संसद में कहेंगे. उनका यह भी कहना था कि देश के आत्मसम्मान के साथ कोई समझौता नहीं किया गया है.

इससे पहले कल खबर आई थी कि पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन की सेनाएं धीरे-धीरे पीछे हट रही हैं. इसे वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर घटते तनाव का एक संकेत माना जा रहा है. पूर्वी लद्दाख के कई इलाकों में दोनों देशों की सेनाएं दो से ढाई किमी पीछे हट गयी हैं. सूत्रों के मुताबिक आज पूर्वी लद्दाख के ‘हॉट स्प्रिंग्स’ क्षेत्र में दोनों देशों के शीर्ष सैन्य अधिकारियों के बीच वार्ता होनी है. इसी वार्ता से पहले आपसी सहमति के तहत दोनों देशों की सेनायें पीछे हटी हैं.

भारत और चीन के बीच करीब साढ़े तीन हजार किलोमीटर लंबी सीमा है. बीते कुछ समय से लद्दाख में दोनों देशों की सेनाओं का जमावड़ा बढ़ा है. सैनिकों के बीच आपसी झड़पें भी हुई हैं. सैटेलाइट तस्वीरों से पता चला है कि चीन लद्दाख के पास एक एयरबेस का विस्तार कर रहा है. तस्वीरों से यह भी खुलासा होता है कि चीन ने वहां लड़ाकू विमान भी तैनात किए हैं.