पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में भारत की मदद की पेशकश की है. एक ट्वीट कर उन्होंने कहा है कि भारत में 34 फीसदी परिवार किसी मदद के बगैर हालात को एक हफ्ते से ज्यादा नहीं झेल पाएंगे. इमरान खान का कहना था, ‘मैं मदद और नकद सहायता की हमारी वह योजना साझा करने के लिए तैयार हूं जिसकी पहुंच और पारदर्शिता की सारी दुनिया तारीफ कर रही है.’ इस योजना का नाम एहसास है. इसके तहत पाकिस्तान सरकार गरीब परिवारों को आर्थिक मदद देती है.

पाकिस्तान में कोरोना वायरस के करीब एक लाख 20 हजार से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं. वहां दो हजार से भी ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. उधर, भारत में संक्रमित मरीजों का मामला तीन लाख के करीब पहुंच चुका है जबकि कोरोना वायरस से हुई मौतों की संख्या आठ हजार को पार कर चुकी है. जानकार इस पर चिंता जता रहे हैं कि भारत में जिस तरह से लॉकडाउन में छूट दी जा रही है उससे हालात बिगड़ सकते हैं. दिल्ली और मुंबई जैसे शहर देश में कोरोना वायरस संक्रमण के हॉटस्पॉट बनकर उभरे हैं. दिल्ली में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 30 हजार हो चुकी है जबकि मुंबई में यह आंकड़ा करीब 50 हजार है. दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया कह चुके हैं कि जुलाई के आख़िर तक राजधानी में कोरोना वायरस के पांच लाख से अधिक मरीज हो सकते हैं.