बिहार में सीमा पर नेपाल पुलिस की फायरिंग में एक भारतीय नागरिक की मौत की खबर है. यह घटना सीतामढ़ी जिले में हुई. फायरिंग में दो लोग घायल भी हुए हैं. इलाके में तैनात रहने वाले सशस्त्र सीमा बल के महानिदेशक (पटना फ्रंटियर) संजय कुमार ने कहा कि विवाद नेपाल सीमा में आवाजाही को लेकर हुआ. उनके मुताबिक हालात अब काबू में हैं.

बीते महीने भी बिहार में इस तरह की घटना हुई थी. तब कोरोना वायरस के चलते घोषित लॉकडाउन के दौरान सीमा पार करने की कोशिश कर रहे भारतीय किसानों को रोकने के लिए नेपाली पुलिस ने हवाई फायरिंग की थी. इन किसानों ने यहां मक्का की खेती के लिए जमीन पट्टे पर ले रखी है और वे फसल कटाई के लिए सीमा पार करना चाह रहे थे.

भारत और नेपाल के बीच संबंध कुछ समय से अच्छे नहीं चल रहे हैं. कल नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने एक बड़ा बयान दिया था. उन्होंने कहा था कि भारत ने नकली काली नदी दिखाकर नेपाल का इलाका हड़प लिया है और वहां अपनी सेना तैनात कर दी है. केपी शर्मा ओली ने यह बात देश की संसद में कही. उन्होंने कहा कि कालापानी, लिपुलेख और लिंपियाधुरा नाम के जिन इलाकों में भारत ने अतिक्रमण कर लिया है उन्हें नेपाल वापस अपने कब्जे में लेने के लिए प्रतिबद्ध है. काली नदी भारत और नेपाल की सीमा बनाती है.

नेपाल और भारत के बीच लिपुलेख, कालापानी और लिंपियाधुरा क्षेत्र को लेकर तनाव चल रहा है. पिछले साल नेपाल सरकार ने एक नया नक्शा जारी किया था. इसमें लिम्पियाधुरा, लिपुलेख और कालापानी को नेपाल में दिखाया गया. उधर, भारत ने भी एक नया नक्शा जारी कर कालापानी को अपना हिस्सा बताया था. नेपाल सरकार नए नक्शे को कानूनी मान्यता देने के लिए हाल में संविधान संशोधन विधेयक भी लाने वाली थी, लेकिन भारत के कड़े विरोध के बाद आखिरकार उसे पीछे हटना पड़ा.