दिल्ली में तेजी से फ़ैल रहे कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कमान अपने हाथों में ले ली है. सोमवार को उन्होंने दिल्ली के हालात की विशेष समीक्षा की. अमित शाह ने सोमवार को सर्वदलीय बैठक बुलाई. इसके बाद स्वास्थ्य सुविधाओं का जायजा लेने लेने के लिए एलएनजेपी अस्पताल पहुंचे.

एलएनजेपी अस्पताल में उन्होंने डॉक्टरों और स्वास्थ्य अधिकारियों से लंबी बात की. पिछले दिनों इस अस्पताल में कोरोना से जुड़ी कई परेशानियां मीडिया के जरिये सामने आई थीं. अमित शाह ने आपातकालीन वार्ड के बारे में पूरी जानकारी ली और सुविधाओं को लेकर अस्पताल प्रशासन को खास निर्देश दिए. अस्पताल के दौरे के बाद उन्होंने दिल्ली के मुख्य सचिव को राजधानी के हर कोरोना अस्पताल के कोरोना वार्ड में सीसीटीवी कैमरे लगाने के निर्देश दिए. उनका कहना था कि इससे वार्डों की अच्छी तरह से मॉनिटरिंग की जा सकेगी और मरीजों की समस्याओं का निदान हो सकेगा.

इसके अलावा केंद्रीय गृह मंत्री ने इन अस्पतालों में मरीजों को भोजन उपलब्ध कराने वाली कैंटीन की एक वैकल्पिक व्यवस्था तैयार करने का भी निर्देश दिया. ऐसा करने से एक कैंटीन में संक्रमण हो जाने पर दूसरी कैंटीन से मरीजों को बिना रुकावट भोजन दिया जा सकेगा.

इससे पहले सोमवार को नॉर्थ ब्लॉक में स्वास्थ्य अधिकारियों, दिल्ली के राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ कोरोना संकट को लेकर गृह मंत्री की लंबी बैठक हुई. इस बैठक के बाद आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कहा कि दिल्ली में कोरोना टेस्ट का नया तरीका अपनाया जाएगा जिससे नतीजे 15 मिनट में आ जाएंगे. संजय सिंह के मुताबिक दिल्ली को कोरोना संकट से बचाने के लिए अब सभी राजनतिक पार्टियां एक साथ आ गयी हैं.