देश में जारी कोरोना वायरस संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की. प्रधानमंत्री ने आज केंद्र शासित प्रदेशों, पूर्वोत्तर राज्यों, पहाड़ी राज्यों के अलावा पंजाब, झारखंड, केरल और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्रियों से बात की.

खबरों के मुताबिक इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘पिछले कुछ हफ्तों में उठाए गए कदमों के चलते अब अर्थव्यवस्था के पटरी पर लौटने के संकेत दिखने लगे हैं.’ उन्होंने कहा कि मई में खाद की बिक्री पिछले साल के मुकाबले दोगुनी हुई है. अर्थव्यवस्था वापस पटरी पर लौट रही है. जून के पहले हफ्ते में निर्यात फिर से अपनी पुरानी हालत में आ गया है और यह कोरोना के पहले वाले स्तर पर पहुंच गया है.

पीएम मोदी ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों को सलाह देते हुए कहा, ‘हमारे यहां जो छोटी फैक्ट्रियां हैं, उन्हें सही सलाह और दिशा निर्देशों की जरूरत है...मुझे पता है आपके नेतृत्व में इस दिशा में काफी काम हो रहा है. व्यापार और उद्योग अपनी पुरानी रफ्तार पकड़ सकें, इसके लिए हमें मिलकर उनकी उत्पादन क्षमता बढ़ाने पर भी काम करना होगा.’

इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में कोरोना वायरस की वर्तमान स्थिति पर भी बात की. उन्होंने दावा किया कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई में भारत अन्य देशों से अच्छा कर रहा है. उन्होंने कहा कि भारत उन देशों में शामिल है जहां मृत्यु दर सबसे कम है. उनके मुताबिक ‘अब थोड़ी सी भी लापरवाही, थोड़ी सी भी ढील और अनुशासन में कमी कोरोना के खिलाफ हमारी लड़ाई को कमजोर कर देगी...दो गज दूरी बहुत जरूरी है. मास्क और फेस कवर जरूरी है. ये कोरोना को फैलने से रोकने में मददगार होंगे.’

प्रधानमंत्री का आगे कहना था, ‘हमें हमेशा यह ध्यान रखना होगा कि जितना अधिक हम कोरोना वायरस को आगे बढ़ने से रोक पाएंगे, उतनी ही अधिक हमारी अर्थव्यवस्था खुलेगी, हमारे कार्यालय खुलेंगे, बाजार खुलेंगे, परिवहन के साधन खुलेंगे. और फिर इसी तरह रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे.’