लद्दाख में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में भारत के 20 सैनिक शहीद होने के बाद पैदा हुए हालात के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी पार्टियों की एक बैठक बुलाई है. यह बैठक 19 जून को होगी. प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक ट्वीट में यह जानकारी दी है.

सोमवार रात पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में भारत और चीन की सेना में हिंसक झड़प हुई थी. इसमें भारत के 20 जवान शहीद हो गए. चार जवानों की हालत गंभीर है. इस हिंसक झड़प में चीनी पक्ष को भी खासा नुकसान हुआ है. बताया जा रहा है कि उसके कम से कम 43 सैनिक जान गंवा चुके हैं या गंभीर रूप से घायल हुए हैं.

इस घटना को लेकर पूरे देश में गुस्‍सा है. कई शहरों में चीन विरोधी प्रदर्शन हुए हैं. विपक्ष ने सरकार से स्थिति स्पष्ट करने की मांग की है. उधर, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शहीद जवानों के परिवारों के प्रति संवेदना प्रगट की है. एक ट्वीट में उन्होंने लिखा, ‘’गलवान में भारतीय जवानों का जाना बेहद विचलित करने वाला और पीड़ादायक है. हमारे जवानों ने कर्तव्य के पथ पर असीम साहस और हिम्मत का प्रदर्शन किया और भारतीय सेना की परम्परा को जीवंत रखते हुए अपनी जान कुर्बान की. राष्ट्र उनकी बहादुरी और बलिदान को कभी नहीं भूलेगा.’

उधर, चीन ने कहा है कि वह अब भारत के साथ सीमा पर और टकराव नहीं चाहता. चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने कहा है कि भारतीय सैनिकों ने अवैध तरीके से सीमा पार की और नतीजे में हुए टकराव में दोनों पक्षों को नुकसान उठाना पड़ा. चीनी प्रवक्ता का यह भी कहना था कि दोनों देश इस मुद्दे को बातचीत से हल करने की दिशा में प्रयास जारी रखेंगे.