भारतीय रेलवे ने एक जुलाई से 12 अगस्त तक सारी नियमित ट्रेन सेवाएं रद्द कर दी हैं. यात्रियों को उनके टिकट का पैसा वापस मिल जाएगा. यह फैसला देश में तेजी से बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामलों के मद्देनजर लिया गया है. हालांकि 12 मई से शुरू हुई कई विशेष ट्रेनें और एक जून से बहाल हुई 200 मेल और एक्सप्रेस ट्रेनें चलती रहेंगी. इसके अलावा मुंबई में बुनियादी सेवाओं से जुड़े कर्मचारियों को लाने-ले जाने के लिए चल रहीं लोकल ट्रेनें भी जारी रहेंगी.

मार्च में भी कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर रेलों के चक्के पूरी तरह थम गए थे. इसके बाद 15 मई को श्रमिकों को लाने-ले जाने के लिए केंद्र ने 15 विशेष ट्रेनें शुरू कीं. एक जून से 200 विशेष ट्रेनों की बहाली हुई.

भारत में कोरोना वायरस के मामलों की रफ्तार अब बहुत तेज हो गई है. बीते 24 घंटे में भारत में कोरोना वायरस के कुल मामलों का आंकड़ा बढ़कर चार लाख 90 हजार के पार पहुंच गया है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक इस दौरान 17296 नए मरीज सामने आए. यह एक दिन में कोरोना वायरस के मामलों का अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है. बीते 24 घंटे के दौरान देश के अलग-अलग हिस्सों से कुल 407 लोगों की मौत की भी खबर आई. इसके बाद कोरोना वायरस संक्रमण से दम तोड़ने वालों का कुल आंकड़ा 15301 हो गया है.