प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज शाम चार बजे देश को संबोधित करेंगे. उनका यह संबोधन कोरोना वायरस संकट और भारत-चीन के बीच सीमा पर तनाव के बीच हो रहा है. एक जुलाई से अनलॉक 2.0 के दिशानिर्देश भी लागू हो जाएंगे. माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन मुद्दों से जुड़े कई पहलुओं पर बात कर सकते हैं. बीेते रविवार को ही अपने रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ में प्रधानमंत्री ने लद्दाख में तनाव से लेकर कोविड-19 तक कई बातों का जिक्र किया था.

देश के नाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पिछला संबोधन 12 मई को हुआ था. तब उन्‍होंने लॉकडाउन से पस्त अर्थव्‍यवस्‍था के लिए 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज का ऐलान किया था. इसके बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इसका चरणवार ब्योरा दिया था. अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस संकट से आई आपदा को अवसर में बदलने का आह्वान भी किया था. उन्होंने कहा था कि भारत इस अवसर का फायदा उठाते हुए आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ सकता है. इसके बाद विभिन्न उद्योग संगठनों के आयोजनों को संबोधित करते हुए भी नरेंद्र मोदी ने यह बात कही थी. इसे देखते हुए संभावना जताई जा रही है कि आज प्रधानमंत्री देश में उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए भी किसी योजना का ऐलान कर सकते हैं.