भारत में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 18,653 मामले सामने आए हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक इसी अवधि में 507 लोगों की संक्रमण के चलते मौत भी हुई है. यह इस समयावधि में हुई मौतों की अब तक की सबसे बड़ी संख्या है. इसके साथ ही भारत में कोरोना वायरस के कुल मामलों और इससे हुई मौतों का आंकड़ा क्रमश: पांच लाख 85 हजार 493 और 17 हजार 400 हो गया है. करीब साढ़े तीन लाख लोग इस बीमारी से उबर भी चुके हैं. इस तरह देखा जाए तो रिकवरी रेट बढ़ता हुआ 59 फीसदी से ऊपर हो गया है.

उधर, इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च का कहना है कि इस महामारी पर काबू पाने के लिए टेस्टिंग लगातार बढ़ाई जा रही है. उसके मुताबिक अब तक 88 लाख से भी ज्यादा लोगों की टेस्टिंग की जा चुकी है और मंगलवार को ही करीब दो लाख 18 हजार लोगों के सैंपलों की जांच की गई. दूसरी तरफ, आज से भारत में लाकडाउन में ढील का दूसरा चरण भी शुरू हो गया है. अनलॉक-2 कहे जा रहे इस चरण में शैक्षणिक सहित कई और गतिविधियों में ढील दी जाएगी.

तमिलनाडु : थर्मल पॉवर प्लान्ट में बॉयलर फटने से चार लोगों की मौत

तमिलनाडु में एक थर्मल पावर प्लांट के बॉयलर में विस्फोट के कारण चार लोगों की मौत हो गई और 13 अन्‍य घायल हो गए. यह विस्फोट राज्य की राजधानी चेन्नई से लगभग 180 किलोमीटर दूर कडलूर में एनएलसी इंडिया लिमिटेड के एक पावर प्‍लांट में हुआ. यह भारत सरकार का उपक्रम है. दो महीने के भीतर पावर प्‍लांट में यह दूसरा विस्फोट है. इससे पहले मई में हुए ऐसे ही एक विस्फोट में आठ श्रमिक जल गए थे.

भारत-चीन तनाव, लद्दाख ले. जनरल स्तर की तीसरी बैठक

पूर्वी लद्दाख में सीमा को लेकर तनाव कम करने की कोशिशों के तहत भारत और चीन के वरिष्ठ सैन्य कमांडरों के बीच मंगलवार को बैठकहुई. लद्दाख के चुशूल में लेह स्थित 14 कॉर्प के लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह के नेतृत्व वाले प्रतिनिधिमंडल और दक्षिण शिंजियांग क्षेत्र के मेजर जनरल लिउ लिन के नेतृत्व वाले दल के बीच हुई यह बैठक कई घंटे चली. इससे पहले हुई बातचीत चीन की तरफ मोल्डो में हुई थी, जो चुशूल के सामने है. अभी इस बातचीत को लेकर सेना की तरफ से कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है. लेकिन सूत्रों के हवाले से कुछ खबरों में बताया जा रहा है कि फिलहाल बातचीत का यह सिलसिला लंबा चलने के आसार हैं.

ईरान : धमाके में 13 लोगों की मौत

ईरान में एक धमाके में 13 लोगों की मौत हो गई. यह धमाका राजधानी तेहरान में एक क्लीनिक में हुआ. इसकी वजह गैस लीक होना बताया जा रहा है. इस हादसे में कई लोग गंभीर रूप से घायल भी हुए हैं जिसके चलते मृतकों की तादाद बढ़ने की संभावना जताई जा रही है. ईरान के सरकारी मीडिया के मुताबिक मारे गए लोगो में अधिकतर महिलाएं थीं. ईरान में इससे कुछ दिन पहले सेना के एक ठिकाने के पास भी बड़ा धमाका हुआ था. इसका कारण भी गैस लीक बताया गया था.