जम्मू-कश्मीर के बारामुला ज़िले में हुए एक आतंकी हमले में केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के एक जवान के शहीद होने की ख़बर है. हमले में घायल हुए तीन अन्य जवानों को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है. इनमें से एक की हालत गंभीर बताई जा रही है. यह हमला बुधवार की सुबह तब हुआ जब सीआरपीएफ की एक टुकड़ी सोपोर क़स्बे में पेट्रोलिंग पर थी. सीआरपीएफ़ के जवानों ने जवाबी कार्रवाई करते हुए आतंकवादियों को पकड़ने की कोशिश की, लेकिन वे बच निकले.

हमले के दौरान अपनी कार में बैठे एक नागरिक की भी गोली लगने से घटनास्थल पर ही मौत हो गई, जबकि उसके साथ मौज़ूद तीन साल के उसके पोते को बचा लिया गया. कश्मीर पुलिस ने इस बारे में ट्वीट करते हुए जानकारी दी है कि सोपोर में हुए एक आतंकी हमले में एक बच्चे को गोलीबारी के बीच से सुरक्षित निकाल लिया गया.

जम्मू-कश्मीर पुलिस के महानिदेशक दिलबाग सिंह ने इस बारे में बयान जारी करते हुए कहा है कि आतंकी हमले वाले इलाक़े की घेराबंदी कर दी गई है और हमलावरों की खोज के लिए सर्च अभियान शुरु कर दिया गया है. इस बयान में दिलबाग सिंह ने यह भी जानकारी दी है कि पिछले महीने हुई अलग-अलग मुठभेड़ों में 48 आतंकियों को मौत के घाट उतारा जा चुका है. उनके मुताबिक 2020 के पहले छह महीनों में 100 से ज़्यादा आतंकवादी मारे जा चुके हैं. इनमें से 50 से ज़्यादा आतंकवादी हिज़बुल मुजाहिद्दीन के थे. वहीं 20 आतंकी लश्कर-ए-तैयबा और 20 अन्य जैश-ए-मुहम्मद से जुड़े थे. बचे आतंकवादियों का ताल्लुक अल-बद्र और अंसार गजवा-तुल-हिंद (एजीएच) जैसे छोटे संगठनों से था.