मोदी सरकार ने कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी को लोधी रोड स्थित बंगला खाली करने को कहा है. प्रियंका गांधी को ये बंगला खाली करने के लिए एक अगस्त तक का समय दिया गया है.

आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय की तरफ से इस बाबत उन्हें एक नोटिस जारी किया गया है. इसमें कहा गया है कि कांग्रेस महासचिव की एसपीजी सुरक्षा हटायी जा चुकी है और अब उन्हें जेड प्लस सुरक्षा दी गई है. मंत्रालय के मुताबिक जेड प्लस सुरक्षा जिसे दी जाती है उसे सरकारी आवास प्रदान करने का नियम नहीं है. ऐसे में प्रियंका गांधी को एक महीने में बंगला खाली करना होगा. दिल्ली के लोधी एस्टेट के 6-बी मकान नंबर-35 में प्रियंका गांधी अपने परिवार के साथ रहती हैं. वह लगभग दो दशक से इसी मकान में रह रही हैं.

बीते साल केंद्र सरकार ने कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी की एसपीजी सुरक्षा हटाकर इन्हें जेड प्लस सुरक्षा दे दी थी. जेड प्लस सुरक्षा व्यवस्था की जिम्मेदारी केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के हाथ में है. इससे पहले मोदी सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की भी एसपीजी सुरक्षा वापस ले ली थी. इस समय एसपीजी की सुरक्षा सिर्फ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास है.