कोरोना वायरस संक्रमण के चलते बंद किए गए देश के सभी स्मारकों को छह जुलाई से खोला जाएगा. केंद्रीय संस्कृति और पर्यटन मंत्रालय ने आज यह जानकारी दी है. मंत्रालय के मुताबिक इस सूची में वे स्मारक और इमारतें भी शामिल हैं, जो पुरातत्व विभाग और संस्कृति मंत्रालय के अंतर्गत आते है. इसका मतलब यह है कि छह जुलाई से लाल किला, ताजमहल समेत सभी स्मारकों को खोला जाएगा. हालांकि, अधिकारियों के मुताबिक कोरोना वायरस की स्थिति को देखते हुए स्मारकों को खोलने का अंतिम निर्णय राज्य सरकारों को करना होगा.

केंद्रीय संस्कृति और पर्यटन मंत्री प्रह्लाद पटेल ने भी इस फैसले की जानकारी दी है. उन्होंने एक ट्वीट में लिखा, ‘सांची (मध्यप्रदेश), पुराना किला (दिल्ली), खजुराहो (विश्व धरोहर) के प्रतीकात्मक चित्र. मैने संस्कृति मंत्रालय और भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) के साथ मिलकर यह निर्णय लिया है कि आगामी छह जुलाई से सभी स्मारकों को पूर्ण सुरक्षा के साथ खोला जा सकता है.

बीते 17 मार्च को संस्कृति मंत्रालय ने पुरातत्व विभाग के सभी टिकट वाले स्मारक एवं अन्य सभी संग्रहालय 31 मार्च तक बंद रखने का निर्देश दिया था. लेकिन इस बीच 25 मार्च को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरे देश में लॉकडाउन लागू कर दिया था. इसके बाद जब एक जून को कुछ क्षेत्रों में कामकाज की छूट दी गई थी तो मंत्रालय ने भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के अधीन 820 धार्मिक स्थलों को खोल दिया था.