उत्तर प्रदेश में एक अपराधी को पकड़ने के लिए गई एक पुलिस टीम पर अंधाधुंध फायरिंग हो गई. इसमें एक डीएसपी सहित आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए और कई अन्य घायल हो गए. मामला कानपुर का है. राज्य के पुलिस महानिदेशक हितेश चंद्र अवस्थी के मुताबिक पुलिस की टीम इलाके के एक हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के यहां दबिश डालने के लिए गई थी. उसके मौके पर पहुंचते ही कई बदमाशों ने फायरिंग शुरू कर दी. इसमें आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए. घायल हुए सात पुलिसकर्मियों में से कुछ की हालत गंभीर बताई जा रही है.

बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस घटना पर डीजीपी और दूसरे आला अधिकारियों से बात की है. मौके पर अब एसटीएफ सहित भारी फोर्स तैनात की गई है. विकास दुबे पर 60 मामले दर्ज हैं. पिछले दिनों ही उस पर एक नया मामला दर्ज हुआ था. इसी सिलसिले में पुलिस इस हिस्ट्रीशीटर के गांव गई थी. विकास दुबे पर 2001 में राजनाथ सिंह सरकार में मंत्री का दर्जा पाए संतोष शुक्ला की हत्या का आरोप भी है.