रूस को पीछे छोड़ते हुए भारत अब कोरोना वायरस से तीसरा सबसे ज्यादा प्रभावित देश हो गया है. रविवार को देश के अलग-अलग हिस्सों से इस महामारी के करीब 25 हजार मामले सामने आए. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक इसी अवधि के दौरान 613 मौतें भी हुईं. यह मामलों और मौतों की अब तक की सबसे बड़ी संख्या है. इसके साथ ही भारत में कोरोना वायरस के मामलों का आंकड़ा छह लाख 90 हजार से ऊपर पहुंच गया है. वायरस संक्रमण के चलते अब तक कुल 19268 मौतें भी हुई हैं. अब तक करीब सवा चार लाख लोग इस महामारी से उबर भी चुके हैं.

इस तरह देखें तो कोरोना वायरस से प्रभावित देशों की सूची में भारत से आगे अब सिर्फ ब्राजील और अमेरिका हैं जहां संक्रमण के क्रमश: 15 और 28 लाख मामले हैं. पूरी दुनिया के आंकड़ों पर नजर डालें तो अब तक इस महामारी से एक करोड़ 12 लाख से भी ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं. मौतों की संख्या 5.3 लाख से अधिक हो गई है. उधर, भारत सरकार ने कहा है कि उसने कोरोना वायरस के दो टीकों के इंसानों पर ट्रायल को मंजूरी दे दी है. इन टीकों को कोवैक्सीन और जायकोव-डी नाम दिया गया है. सरकार का कहना है कि यह इस महामारी के अंत की शुरुआत है.