गूगल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) सुंदर पिचाई ने आज भारत में 10 बिलियन डॉलर यानी लगभग 75 हजार करोड़ रुपए निवेश करने की बात कही है. पिचाई के मुताबिक भारत की डिजिटल इकॉनमी को आगे बढ़ाने में यह गूगल की मदद होगी. इसके साथ ही उनका यह भी कहना था कि इस निवेश के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ‘डिजिटल भारत’ के सपने को आगे बढ़ाने में मददकर वे गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं. गूगल का कहना है कि भारत के संभावनाशील बाज़ार को देखते हुए कंपनी अगले पांच से सात सालों में इक्विटी इन्वेस्टमेंट और टाइ-अप्स के जरिए इस राशि का इस्तेमाल करेगी.

गूगल ने यह घोषणा अपने सालाना इवेंट ‘गूगल फॉर इंडिया 2020’ में की है जो इस बार ऑनलाइन आयोजित किया गया था. इस इवेंट में केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री रविशंकर प्रसाद और मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरिया निशंक ने भी हिस्सा लिया था. इससे पहले सुंदर पिचाई ने सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी ऑनलाइन बातचीत की थी. इस बातचीत के बारे में बताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश में शिक्षा, साइबर सुरक्षा, डिजिटल पेमेंट से जुड़े प्रयासों के लिए गूगल की तारीफ की है. उनका यह भी कहना था कि ‘बातचीत के दौरान सुंदर पिचाई और मैंने कोविड-19 के समय में उभरती नई कार्य संस्कृति पर बात की. हमने इसके चलते विभिन्न क्षेत्रों जैसे खेल में पैदा हुए संकटों पर बात की. इसके साथ ही हमने साइबर सुरक्षा और डाटा सेक्युरिटी पर भी बात की.’

गूगल की तरफ से कहा जा रहा है कि इस निवेश के सबसे पहले हिंदी, तमिल, पंजाबी और बाकी भारतीय भाषाओं में सूचनाएं मुहैया करवाने पर काम किया जाएगा. इसके बाद भारत की डिजिटल ज़रूरतों से जुड़े नए उत्पाद और सेवाओं में निवेश किया जाएगा. बताया जा रहा है कि गूगल आने वाले समय में छोटे और मंझोले व्यापारियों को डिजिटल सेवाएं मुहैया करवाने और आर्टिफिशियल इंजीनियरिंग के जरिए स्वास्थ्य, शिक्षा और कृषि की तकनीक तैयार करने पर भी काम करने वाला है.

Play