लल्लन – लगता है, अर्थव्यवस्था की हालत तो सच में बहुत खराब है

बब्बन – क्यों?

लल्लन – अरे अब सरकार ने नेहरू की बजाय सीधे भगवान को दोष देना शुरू कर दिया है


आम आदमी1 – तुम्हें शिवसेना क्यों पसंद है?

आम आदमी2 – क्योंकि उसने बीजेपी को याद दिला दिया कि भारत में लोकतंत्र है


विभूति – बताइए, मोदीजी क्रिटिसिज्म पर ध्यान नहीं देते

मुकुंदी – देते तो हैं. बताओ छात्रों ने उनके वीडियो को डिसलाइक किए तो उन्होंने ऑप्शन ही हटवा दिया


सप्ताह का कार्टून:
- इतना सारा ड्रामा बस एक ब्रेकअप के कारण!
- सुशांत और रिया का ब्रेकअप?
- नहीं, बीजेपी और शिवसेना का.


नॉन-भक्त – देखो जीडीपी कितना गिर गई है

भक्त – अरे यहां कंगना का ऑफिस गिर गया तुम्हें जीडीपी की पड़ी है


शर्माजी - जिसे ख़तरा हो सरकार उसे सुरक्षा दे तो रही है

वर्माजी - इस हिसाब से इकॉनमी को जेड प्लस सिक्योरिटी देकर मोदीजी को उससे 100 मीटर दूर बैठा देना चाहिए


पत्रकार – मैडम आप बीजेपी कब जॉइन करेंगी?

कंगना – नहीं, वहां पहले से मुझसे बड़े अभिनेता हैं