एक दिन पहले हुई चार सैनिकों की हत्या का बदला लेते हुए मिश्र की सेना ने हिंसाग्रस्त इलाके उत्तरी सिनाई गवर्नरेट में आतंकियों के ठिकाने पर धावा बोलते हुए अंसार बैत अल-मकद्दस नामक आतंकी संगठन के 12 आतंकियों को मार गिराया है. इस कार्रवाई की पुष्टि करते हुए उसने आतंकियों के और ठिकानों पर भी हमला करने की बात कही है. सेना के प्रवक्ता ब्रिगेडियर जनरल मोहम्मद समीर के मुताबिक सेना का अगला लक्ष्य इस इलाके के शेख जुवैद शहर में स्थित इस आतंकी समूह के मुख्यालय को खत्म करना है. इस समूह ने एक दिन पहले मिश्र के एक सैन्य वाहन पर हमला बोलते हुए चार सैनिकों की हत्या कर दी थी. इस हमले में तीन जवान  बुरी तरह से घायल भी हो गए थे. अंसार बैत अल-मकद्दस नामक यह संगठन इस इलाके में पिछले लंबे समय से आतंकी हमलों को अंजाम देता रहा है. इस संगठन को दुनिया के लिए सबसे बड़ी चुनौती बन चुके आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट की शह मिली हुई है. मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक इस्लामिक स्टेट की सत्ता स्वीकार करने के बाद से इस संगठन को उसकी तरफ से हर तरह की मदद पहुंचाई जा रही है.


'कीनिया में किसी के साथ सिर्फ इसलिए भेदभाव नहीं होना चाहिए कि वह समलैंगिक है' - बराक ओबामा

कीनिया दौरे पर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोलते हुए 



बराक ओबामा की 'घर वापसी'
अपने पिता की जन्मभूमि कीनिया के दौरे पर गए अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि वे अफ्रीका को वैश्विक विकास का हब बनता देखना चाहते हैं. राजधानी नैरोबी में एक व्यापारिक सम्मेलन का उदघाटन करते हुए ओबामा ने यह बात कही. राष्ट्रपति बनने के बाद अपनी पहली कीनिया यात्रा के दौरान ओबामा वहां के राष्ट्रपति उहरु केन्याटा से भी मिलेंगे. इस मुलाकात में क्षेत्रीय सुरक्षा और सोमाली आतंकी संगठन अल-शबाब के खतरे पर बातचीत होगी. कीनियाई मीडिया में उनकी इस यात्रा को 'घर वापसी' बताया जा रहा है. युवा कारोबारियों को संबोधित करते हुए ओबामा ने यह भी कहा कि अफ्रीका की सरकारों को यह सुनिश्चित करना होगा कि भ्रष्टाचार पर रोक लगे.
यमन में युद्धविराम
बीते मार्च से यमन पर बम बरसा रहे सऊदी अरब की अगुवाई वाले गठबंधन ने पांच दिन के एकतरफा युद्धविराम की घोषणा की है. इसका मकसद सहायता एजेंसियों की वहां राहत पहुंचाने में मदद करना है. शिया हूती विद्रोहियों ने यमन के अधिकांश हिस्से पर कब्जा कर लिया है. वहां के राष्ट्रपति ए मंसूर हादी ने सऊदी अरब में शरण ले रखी है. इस कब्जे को अवैध करार देते हुए सऊदी अरब सहित कई देशों का गठबंधन हूती विद्रोहियों के खिलाफ अभियान छेड़े हुए है. दोनों पक्षों के बीच हो रहे इस टकराव में अब तक कई बच्चों सहित सैकड़ों बेगुनाहों की जान जा चुकी है. युद्धविराम के ऐलान ऐन पहले हुए सऊदी अरब के हमले में 80 लोगों की मौत की खबर है. इस दौरान संयुक्त राष्ट्र संघ ने दो बार युद्धविराम करवाने की कोशिश की थी लेकिन यह असफल रही.