कांग्रेस के 25 लोकसभा सांसद निलंबित | सोमवार, 3 अगस्त 2015
कांग्रेस पार्टी के 25 लोकसभा सांसदों को सदन की कार्यवाही में बाधा पहुंचाने के आरोप में पांच दिनों के लिए निलंबित कर दिया. लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने इन सांसदों को निलंबित करने के साथ ही चेतावनी भी दी कि इसके बाद भी यदि इनका रवैया नहीं सुधरा तो और भी सख्त कदम उठाया जाएगा. अपने सांसदों के निलंबन से नाराज कांग्रेस पार्टी ने इसे तानाशाही करार देते हुए इसके विरोध में पांच दिनों तक संसद का बहिष्कार करने का ऐलान किया. कांग्रेसी सांसदों के निलंबन पर अन्य विपक्षी दलों ने भी विरोध जताया. निलंबित किए गए कांग्रेसी सांसद स्पीकर सुमित्रा महाजन की चेतावनी के बावजूद काली पट्टी पहन कर और हाथों में पोस्टर लेकर सदन में पहुंचे थे. वे विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के इस्तीफे की मांग करते हुए हंगामा भी कर रहे थे.
पाकिस्तान ने ही करवाया था 26/11 का मुंबई हमला | मंगलवार, 4 अगस्त 2015
'साल 2008 में हुए 26/11 के मुंबई हमले को पाकिस्तान ने अंजाम दिया था.’ पाकिस्तान के एक पूर्व अधिकारी की इस स्वीकोरोक्ति के साथ ही इस हमले में उसका हाथ होने संबंधी भारत के दावे पर मुहर लग गई है. पाकिस्तान की सबसे बड़ी जांच एजेंसी एफआईए के पूर्व निदेशक तारिक खोसा ने वहां के प्रसिद्ध समाचार पत्र डॉन में एक लेख लिखा है. इस लेख में उन्होंने लिखा है कि ‘पाकिस्तान को सच्चाई का सामना करते हुए मुंबई की उस घटना के लिए माफी मांगनी चाहिए क्योंकि उस जघन्य अपराध की साजिश उसकी धरती पर ही रची गई थी.’ तारिक खोसा की स्वीकारोक्ति इस मायने में भी अहम है कि मुंबई हमले में पाकिस्तान का हाथ होने संबंधी भारत के आरोपों के बाद पाक सरकार ने उनको ही इस हमले की जांच का जिम्मा सौंपा था.
ललित मोदी के ख़िलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी | बुधवार, 5 अगस्त 2015
देश की राजनीति में चल रहे हालिया बवंडर के सबसे बड़े सूत्रधार और आईपीएल के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी के खिलाफ मुंबई की एक अदालत ने गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिया है. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने हफ्तेभर पहले ही इसके लिए अदालत में अर्जी दी थी. ईडी ने अदालत से कहा था कि ललित मोदी ने उसके द्वारा भेजे गए एक भी नोटिस का जवाब नहीं दिया है, लिहाजा उन्हें गिरफ्तार किया जाना बेहद जरूरी है. अदालत के आदेश के बाद लंदन में बैठे ललित मोदी के लिए तो मुश्किल खड़ी हो ही गई है, साथ ही सरकार पर भी उन्हें गिरफ्तार करने का दबाव बढ़ गया है. प्रवर्तन निदेशालय ललित मोदी के खिलाफ बीसीसीआई द्वारा दायर की गई शिकायत की जांच कर रहा है.
सोनिया गांधी ने केंद्र सरकार और एनएससीएन के बीच हुए शांति समझौते पर सवाल उठाए | गुरुवार, 6 अगस्त 2015
केंद्र सरकार और नागालैंड के अलगाववादी संगठन नेशनल सोशलिस्ट काउंसिल ऑफ नागालैंड (एनएससीएन) के बीच हुए शांति समझौते पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने यह कहते हुए सवाल उठाया है कि सरकार ने इस समझौते को लेकर नागालेंड के मुख्यमंत्री से किसी तरह का सलाह मशविरा नहीं किया. नागालेंड में कांग्रेस पार्टी सत्ता में है. दो दिन पहले ही अलगाववादी संगठन एनएससीएन के ‘इसाक मुइवा गुट’ और केंद्र सरकार के बीच बहुप्रतीक्षित शांति समझौते की घोषणा हुई है. सन 1980 में इस संगठन के गठन के बाद से ही भारत सरकार इसके साथ शांति समझौता करने का प्रयास कर रही थी. इस समझौते के बाद नागालैंड में सक्रिय दूसरे अलगाववादी गुटों के साथ भी केंद्र सरकार का समझौता होने की उम्मीद बढ गई है.
सुषमा स्वराज पर कांग्रेस का हमला जारी, सोनिया गांधी ने 'ड्रामेबाज' कहा | शुक्रवार, 7 अगस्त 2015
ललित मोदी की मदद को लेकर लोकसभा में सफाई देने के बाद भी विदेश मंत्री सुषमा स्वराज पर कांग्रेस पार्टी का हमला जारी है. पार्टी सुप्रीमो सोनिया गांधी ने उनकी इस सफाई को नाटकबाजी बताते हुए कहा है कि ‘वे ड्रामा कर रही हैं और ऐसा करने में माहिर हैं.’ सोनिया गांधी ने सुषमा स्वराज के कल दिए गए बयान पर पलटवार करते हुए यह भी कहा कि ‘वे भी उस महिला (ललित मोदी की पत्नी ) की मदद के लिए पूरा प्रयास करतीं लेकिन कानून नहीं तोड़तीं.’ सुषमा स्वराज ने कल लोक सभा में सवाल किया था कि यदि उनकी जगह पर सोनिया गांधी होतीं तो वे क्या करतीं. राहुल गांधी ने भी सुषमा स्वराज पर सवाल उठाते हुए कहा कि उन्हें बताना चाहिए कि ललित मोदी ने उनके परिवार को कितने पैसे दिए हैं.
पुलिस ने पाक आतंकी के संदिग्ध मददगारों को गिरफ्तार किया | 8 अगस्त, 2015
जम्मू कश्मीर पुलिस ने पाकिस्तानी आतंकी मोहम्मद नावेद याकूब को शरण देने और मदद करने के आरोप में चार लोगों को गिरफ्तार किया है. इन चारों में फैयाज अहमद नाम का वह शख्स भी है जिस पर नावेद को 6 दिनों तक अपने घर में पनाह देने का आरोप है. अब सुरक्षा एजेंसियां इस बात का पता लगाने में जुट गई हैं कि फैयाज अहमद के घर में रहने से पहले यह आतंकी कहां-कहां ठहरा था. इन सब पहलुओं की जांच के सिलसिले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) शुक्रवार को नावेद को दिल्ली से कश्मीर लेकर गई थी. फैसलाबाद (पाकिस्तान) के रहने वाले आतंकी मोहम्मद नावेद याकूब को तीन दिन पहले हुए उधमपुर हमले के बाद स्थानीय लोगों की मदद से पकड़ा गया था. इस हमले में दो सैनिक शहीद हो गए थे. सेना की जवाबी कार्रवाई में नावेद का एक साथी आतंकी भी मौके पर ही ढेर हो गया था.