बिहार विधानसभा चुनावों के लिए एनडीए ने सीटों के बंटवारे का ऐलान कर दिया है. अपने सहयोगियों के साथ भाजपा मुख्यालय में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि उनकी पार्टी 160 सीटों पर लड़ेगी. फॉर्मूले के मुताबिक राम विलास पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी को 40, उपेंद्र कुशवाहा की राष्ट्रीय लोकसमता पार्टी को 23 और जीतनराम मांझी की हिंदुस्तान अवाम मोर्चा को 20 सीटें दी गई हैं. शाह के मुताबिक मांझी की पार्टी के कुछ उम्मीदवार भाजपा के चुनाव चिन्ह पर भी लड़ेंगे. पहले 40 सीटों की मांग कर रहे मांझी इस फॉर्मूले से खुश बताए जा रहे हैं लेकिन पासवान और कुशवाहा खफा. खबरों के मुताबिक लोक जनशक्ति‍ पार्टी का आरोप है कि भाजपा ने उसे वादे के मुताबिक सीटें नहीं दीं. पासवान और कुशवाहा मांझी को ज्यादा तरजीह मिलने से भी नाराज बताए जा रहे हैं.


'हर हिंसा की जड़ पुरुष होते हैं.'

मेनका गांधी,  केंद्रीय महिला एवं बाल कल्याण मंत्री
फेसबुक पर आयोजित एक चैट सेशन के दौरान



संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की स्थायी सदस्यता की उम्मीद बढ़ी
संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की स्थायी सदस्यता की कोशिशों को बड़ी सफलता मिली है. संयुक्त राष्ट्र के 200 सदस्य देश इस पर सहमत हो गए हैं कि वे अगले एक साल तक सुरक्षा परिषद में सुधार की मांग करते एक दस्तावेज पर चर्चा करेंगे. गौरतलब है कि सुरक्षा परिषद इस वैश्विक संगठन में निर्णय लेने वाला शीर्ष अंग है. इसमें 15 सदस्य होते हैं, जिनमें पांच, अमेरिका, चीन, रूस, ब्रिटेन, और फ्रांस इसके स्थायी सदस्य हैं. संस्था के इतिहास में यह पहला मौका है  जब महासभा के विभिन्न सदस्य देशों ने इस सुधार प्रस्ताव के लिए अपने लिखित सुझाव दिए हैं. मसौदा तैयार हो जाने के बाद उसे महासभा में मतदान के लिए रखा जाएगा जहां उसे पास होने के लिए दो तिहाई वोट की ज़रूरत पड़ेगी. अक्टूबर में संयुक्त राष्ट्र की 70वीं वर्षगांठ से पहले प्रधानमंत्री मोदी विदेश यात्राओं और द्विपक्षीय चर्चा के ज़रिए अलग अलग देशों के प्रमुखों से सुरक्षा परिषद में भारत की स्थायी सदस्यता के लिए सहयोग की कवायद कर रहे हैं.
धोनी को अदालती राहत
दिग्गज क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी को सुप्रीम कोर्ट से एक बड़ी राहत मिली है. शीर्ष अदालत ने एक पत्रिका के मुखपृष्ठ पर उन्हें कथित तौर पर भगवान विष्णु के रूप में दर्शाए जाने के खिलाफ दायर शिकायत पर शुरू हुई आपराधिक कार्रवाई पर रोक लगा दी है. न्यायमूर्ति पिनाकी चंद्र घोष और आरके अग्रवाल की पीठ ने कर्नाटक हाईकोर्ट के उस आदेश के क्रियान्वयन पर भी रोक लगा दी जिसने धोनी के खिलाफ आपराधिक कार्रवाई पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था. अदालत ने धोनी की याचिका को इसी तरह के एक अन्य मामले को लेकर लंबित याचिका के साथ जोड़ दिया है और भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान के खिलाफ बेंगलुरु की अदालत में शिकायत दर्ज कराने वाले व्यक्ति को नोटिस भी जारी किया है. यह याचिका सामाजिक कार्यकर्ता जयकुमार हिरामठ ने दायर की थी. उनका आरोप था कि एक बिजनेस पत्रिका के मुखपष्ठ पर धोनी को कथित रूप से भगवान विष्णु के रूप में दर्शाया गया है जो हाथ में जूते सहित अनेक वस्तुएं थामे हुए हैं. अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट ने इस पर धोनी के खिलाफ मामला दर्ज करने का निर्देश दिया था. अदालत ने बाद में धोनी को समन जारी किया था जिसके खिलाफ उन्होंने हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी.