एंगस डीटॉन को अर्थशास्त्र का नोबेल | सोमवार, 12 अक्टूबर 2015
इस साल अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार एंगस डीटॉन को दिया गया. 69 साल के डीटॉन को यह पुरस्कार उपभोग पर उनके व्यापक काम के लिए मिला है. खबरों के मुताबिक इस बारे में डीटॉन के शोध कार्य से विशेषकर भारत सहित दुनिया भर में गरीबी को आंकने का तरीका नए सिरे से तय करने में मदद मिली है. पुरस्कार देने वाली संस्था रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ साइंसेज ने डीटॉन के नाम का ऐलान करते हुए कहा कि उनका काम मानव कल्याण के लिहाज से बहुत महत्वपूर्ण है. स्काटलैंड में जन्मे डीटॉन अमेरिका की प्रिंसटन यूनिवर्सिटी में अर्थशास्त्र और अंतर्राष्ट्रीय मामलों के प्रोफेसर हैं.
एमएच 17 को रूसी मिसाइल ने मार गिराया था : जांच रिपोर्ट | मंगलवार, 13 अक्टूबर 2015
नीदरलैंड्स के जांचकर्ताओं ने कहा कि मलेशियाई यात्री विमान एमएच 17 पर रूसी मिसाइल से हमला किया गया था. एमस्टर्डम से क्वालालंपुर के लिए जा रही मलेशियन एयरलाइन की उड़ान संख्या एमएच-17 बीती जुलाई में पूर्वी यूक्रेन से गुजरते हुए क्रैश हो गई थी. इसमें विमान में सवार सभी 298 यात्रियों की मौत हो गई थी जिनमें 196 नीदरलैंड्स के थे. यूक्रेन और पश्चिमी देश कहते रहे हैं कि विमान को रूस समर्थक विद्रोहियों ने विमान को गिराया. उधर, रूस इन आरोपों को खारिज करते हुए कहता रहा है कि मिसाइल यूक्रेन नियंत्रित इलाक़े से दागी गई थी. अमेरिका ने इस रिपोर्ट को दोषियों को सजा दिलाने की दिशा में मील का पत्थर बताया है जबकि रूस ने जांच के नतीजों को पक्षपाती करार दिया है.
जमैका के लेखक मार्लोन जेम्स को मैन बुकर | बुधवार, 14 अक्टूबर 2015
जमैका के लेखक मार्लोन जेम्स को 2015 का प्रतिष्ठित मैन बुकर पुरस्कार मिला. यह सम्मान उन्हें उनकी किताब ‘ए ब्रीफ हिस्ट्री ऑफ सेवन किलिंग्स’ के लिए दिया गया है. वे जमैका के पहले साहित्यकार हैं जिन्हें मैन बुकर मिला है. पुरस्कार की दौड़ में उन्होंने ब्रिटिश- भारतीय लेखक संजीव सहोता की ‘द ईयर ऑफ रनवे’ सहित पांच अंतरराष्ट्रीय दावेदारों को पीछे छोड़ा. 44 साल के जेम्स का यह तीसरा उपन्यास है जो 1970 के दशक में जमैका के मशूहर गायक, गीतकार और संगीतकार बॉब मार्ले की हत्या के प्रयास की वास्तविक घटना से प्रेरित है.
फॉक्सवैगन को 24 लाख कारें वापस लेने का आदेश | गुरुवार, 15 अक्टूबर 2015
जर्मनी की वाहन निरीक्षक संस्था केबीए ने फॉक्सवैगन को बाजार से अपनी 24 लाख कारें वापस लेने के लिए कहा. ये आदेश फॉक्सवैगन की डीज़ल गाड़ियों में लगे प्रदूषण जांच को चकमा देने वाले सॉफ्टवेयर की ख़बरों के मद्देनज़र दिया गया. बीते महीने अमेरिका के अधिकारियों ने पता लगाया था कि फ़ॉक्सवैगन की कुछ डीज़ल कारों में एक ऐसा सॉफ्टवेयर लगा है जिससे प्रदूषण जांच की रिपोर्ट में हेरफेर हो सकता है. बाद में कंपनी ने माना कि पूरी दुनिया में उसकी करीब एक करोड़ दस लाख कारों में ये सॉफ्टवेयर लगा हो सकता है. इस प्रकरण के बाद से फॉक्सवैगन के शेयर की कीमतों में भारी गिरावट आई है.
अमेरिका ने कहा, पाकिस्तान के साथ असैन्य परमाणु समझौता नहीं | शुक्रवार, 16 अक्टूबर 2015
अमेरिका ने कहा कि फिलहाल उसकी पाकिस्तान के साथ किसी असैन्य परमाणु समझौते को लेकर कोई योजना नहीं है. व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जोश अर्नेस्ट मीडिया से बात करते हुए कहा,  ‘मुझे पता है कि इस बारे (पाकिस्तान के साथ असैन्य परमाणु समझौता) में कई तरह की चर्चा हो रही है. मैं ऐसे किसी समझौते पर पहुंचने की संभावना को लेकर बहुत उत्साहित नहीं हूं.’ गौरतलब है कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ अगले हफ्ते अमेरिका में राष्ट्रपति बराक ओबामा से मुलाकात करने वाले हैं. इसके मद्देनजर दोनों देशों के बीच असैन्य परमाणु समझौते की चर्चा तेज थी. अर्नेस्ट ने कहा कि इस समय अमेरिका पाकिस्तान और बाकी अंतरराष्ट्रीय समुदाय के साथ सिर्फ परमाणु सुरक्षा के मुद्दों पर बातचीत कर रहा है.
दक्षिणी चीन सागर को लेकर चीन के रुख में नरमी | शनिवार, 17 अक्टूबर 2015
चीन ने कहा कि वह विवादों के समाधान के लिए ताकत का बेधड़क इस्तेमाल नहीं करेगा. उसका यह बयान दक्षिणी चीन सागर विवाद को लेकर बढ़े तनाव को कम करने के प्रयास के तहत आया है. चीन के केंद्रीय सैन्य आयोग (सीएमसी) के उप प्रमुख फान चांगलोंग ने कहा कि चीन ने सभी संबंधित पक्षों के साथ सीधे मित्रवत तरीके से बातचीत के जरिये विवादों का समाधान करने पर जोर दिया है. उन्होंने यह भी कहा कि चीन अनपेक्षित टकरावों से बचने का पूरा प्रयास करेगा. यह बयान ऐसे वक्त पर आया है जब खबरें आ रही है कि अमेरिका ने विवादित क्षेत्र की ओर एक युद्धपोत भेजने की योजना बनाई है जो चीन को सीधी चुनौती है. दरअसल तेल और दूसरे संसाधनों से समृद्ध दक्षिणी चीन सागर के समूचे क्षेत्र को चीन अपना बताता है. जिसका वियतनाम, फिलीपींस, मलेशिया, ब्रुनेई और ताइवान विरोध करते हैं. इन पांच देशों को अमेरिका का पूरा समर्थन हासिल है.