सीरिया और इराक़ में सक्रिय आतंकी संगठन आईएस पर चौतरफ़ा शिकंजा कसने की तैयारियां तेज हो गयी हैं. रूस और फ्रांस के बाद अब ब्रिटेन ने भी आईएस पर हमला बोलने का मन बना लिया है. ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने ब्रिटेन की संसद में कहा है कि अगर आईएस को खत्म करना है तो उस पर हमला बोलना ही होगा. सांसदों को समझाते हुए कैमरन का कहना था, 'हम यह नहीं सोच सकते कि आईएस ब्रिटेन पर हमला नहीं करेगा, हम निश्चित ही उनके निशाने पर हैं. उन्हें और इस डर को खत्म करने का एक ही रास्ता बचा है और वह है सीरिया में उन पर हमला करना.' इसके साथ ही कैमरन ने सांसदों से सीरिया में आईएस के ख़िलाफ़ सैनिक कार्रवाई का समर्थन करने की अपील की है.
ब्रिटेन के कुछ सांसद इस फैसले का विरोध कर रहे हैं. उनका मानना है कि अगर ब्रिटेन ने हमला किया तो आईएस के आतंकी उनके देश पर भी फ्रांस जैसा हमला कर सकते हैं. इससे पहले 2013 में भी ब्रिटिश सांसदों ने  सीरिया में सैनिक कार्रवाई को मंज़ूरी नहीं दी थी. हालांकि इराक़ में आईएस के ख़िलाफ़ कार्रवाई को मंज़ूरी दी गई थी.


'मैं संबंधित देशों से फिर कहना चाहता हूं कि इस आतंकी हमले के सभी षड्यंत्रकारियों को न्याय के कठघरे में लाने का प्रयास किया जाना चाहिए.'

बान की मून, संयुक्त राष्ट्र महासचिव
मुंबई हमलों की बरसी पर मीडिया से बातचीत में



रूस ने तुर्की पर आर्थिक प्रतिबंध लगाने की घोषणा की
तुर्की के द्वारा रूसी विमान गिराए जाने के बाद से दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ता ही जा रहा है. रूस ने तुर्की पर व्यापक आर्थिक प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है. इस फैसले की जानकारी देते हुए रूसी प्रधानमंत्री दिमित्री मेदवेदेव ने कहा कि तुर्की पर व्यापार, परिवहन और पर्यटन के क्षेत्र में प्रतिबंध लगाए जाएंगे और दोनों देशों के बीच साझा निवेश की योजनाओं को भी बंद किया जाएगा. मेदवेदेव के अनुसार भविष्य में इन नियमों को लागू रखने का फैसला तुर्की के सहयोग और उसके साथ उच्च स्तर के भरोसे के आधार पर तय किया जाएगा. वहीं, रूस के इस फैसले के बाद तुर्की की चिंता बढ़ सकती है. रूस व्यापार के क्षेत्र में तुर्की का दूसरा सबसे बड़ा सहयोगी है.
रूस के साइबेरिया में हेलिकॉप्टर दुर्घटना, 15 की मौत
रूस के साइबेरिया में एक प्राइवेट हेलिकॉप्टर के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने से 15 लोगों की मौत हो गई है. रूसी सेना के अधिकारियों के मुताबिक साईबेरिया के इगारका शहर में एमआई-8 हेलिकॉप्टर लैंडिंग के समय दुर्घटनाग्रस्त हो गया. बताया जाता है कि हेलिकॉप्टर में कोई तकनीकी खराबी आई थी जिसके बाद उसकी आपात लैंडिंग भी हुई लेकिन, अभी यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि लैंडिंग के बाद किस वजह से यह दुर्घटना घटी. खबरों के अनुसार, हेलिकॉप्टर पर 22 यात्री और चालक दल के चार सदस्य सवार थे. जिनमें 10 घायल भी हुए हैं.