पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी ने इंडियन एक्सप्रेस की 2012 की उस खबर को सही बताया है जिसके मुताबिक भारतीय सेना की दो टुकड़ियों ने बिना सरकारी अनुमति और सूचना के दिल्ली की ओर कूच किया था. सोशल मीडिया में कल से कांग्रेस नेता का यह बयान सुर्खियों में है. संबंधित रिपोर्ट की बाईलाइन में अखबार के तत्कालीन संपादक शेखर गुप्ता का भी नाम था. आज हैशटैग ‘शेखर गुप्ता,’ और ‘मनीष तिवारी’ दोनों दिनभर ट्रेंड करते रहे. उस समय यूपीए सरकार ने इस खबर को गलत बताया था. इसबार भी कांग्रेस ने मनीष तिवारी के इस बयान से पल्ला झाड़ लिया है लेकिन सोशल मीडिया पर पार्टी की आलोचना का दौर जारी है. उधर राहुल गांधी यूरोप में छुट्टियां मनाकर भारत वापस आ चुके हैं. लोग इसपर भी जम कर चुटकियां ले रहे हैं और अनुमान लगा रहे हैं कि छुट्टियों में राहुल गांधी ने क्या-क्या किया होगा. एक टिप्पणी के अनुसार राहुल गांधी  के लौट आने से कांग्रेस कार्यकर्ताओं में उत्साह की लहर दौड़कर निकल गई है.राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल आज दैनिक भास्कर को दिए अपने कथित इंटरव्यू की वजह से सोशल मीडिया में चर्चा बटोरते रहे. अखबार के मुताबिक डोभाल ने भारत-पाक वार्ता रद्द होने का दावा किया है. हालांकि अजीत डोभाल ने इंटरव्यू देने की बात से  इनकार कर दिया है लेकिन अखबार अपनी खबर पर कायम है.
सुप्रीम कोर्ट ने आज कहा है कि अगर किसी मंदिर को संवैधानिक अधिकार नहीं हैं, तो वो महिलाओं के प्रवेश पर बैन नहीं लगा सकता. सुप्रीम कोर्ट ने सबरीमाला (अयप्पा मंदिर) में महिलाओं के प्रवेश संबंधी मामले पर यह टिप्पणी की है. ‘सबरीमाला’ ट्रेंडिंग टॉपिक पर कोर्ट की इस टिप्पणी को लेकर कई प्रतिक्रियाएं आई हैं. यहां लोगों अन्य धर्मों की महिलाओं के साथ हो रहे धार्मिक भेदभाव का मुद्दा भी उठाया. आज क्रिकेटर राहुल द्रविड़ का जन्मदिन है. उन्हें दिए जा रहे शुभकामना संदेश भी आज सोशल मीडिया पर लगातार दिखते रहे.
छीछालेदर |‏ @
मनोज तिवारी और मनीष तिवारी में सिर्फ पार्टी का ही अंतर है, बाकी सब एक जैसा है.
अनामिका |‏ @
अगर प्रतिबंध हटा लिया जाता है तो देखने लायक बात यह होगी कि कितनी महिलाएं मंदिर जाती है. सच्चे भक्त ईश्वर की इच्छा का सम्मान करेंगे और नहीं जाएंगे.
मंजुल |‏ @MANJULtoons
गजेंद्र चौहान ने सात महीने बाद एफटीआईआई में प्रभार संभाला. मेरा #कार्टून
[embed
/embed]
सुरेश एन |‏ @
मालदा, जल्लीकट्टू के बाद अब सबरीमाला. बराबरी की बात और महिलाओं के अधिकार सिर्फ हिंदुओं के लिए क्यों.  गैर-हिंदू महिलाओं को किसी और से ज्यादा इसकी जरूरत है.
खबरबाजी |‏ @
नए साल की छुट्टियां बिताकर राहुल गांधी यूरोप से भारत लौट आए हैं. अगर कुछ दिन और वहां रुक जाते तो उनकी नए साल की छुट्टियां फिर शुरू हो जातीं.