खूंखार आतंकी संगठन आईएस जल्द ही अमेरिका पर पेरिस जैसा बड़ा हमला कर सकता है. अमेरिकी खुफिया एजेंसी (सीआईए) के प्रमुख जॉन ब्रेनान ने इस बात की आशंका जताई है. उन्हें मिली जानकारी के मुताबिक आईएस अमेरिका पर एक बड़े हमले की साजिश रच रहा है. ब्रेनान ने समाचार वेबसाइट सीबीएस को दिए एक साक्षात्कार में कहा है कि आईएस अमेरिका में हमलों को अंजाम देने के लिए लोगों को भड़का रहा है. यहां तक कि वह फ्रांस की तरह कुछ अमेरिकी लोगों को अपने ठिकानों पर हमलों का प्रशिक्षण देकर इसके लिए तैयार भी कर रहा है. ब्रेनान के मुताबिक हालांकि उन्हें नहीं लगता कि आईएस को कभी इसमें कामयाबी मिल पाएगी. 
सीआईए प्रमुख ने नवंबर में पेरिस में हुए हमले को फ्रांस की ख़ुफ़िया एजेंसियों की बड़ी नाकामी बताया है. उनका कहना है, 'पेरिस में हमला करने के लिए फ्रांस के सात नागरिक सीरिया में जाकर आईएस से प्रशिक्षण लेकर वापस आ जाते हैं और गोला बारूद लेकर पेरिस में दाखिल भी हो जाते हैं, लेकिन वहां की ख़ुफ़िया एजेंसियों को इसकी भनक तक नहीं लगती है. इसे एजेंसियों की नाकामी ही कहा जाएगा.' सीआईए प्रमुख ने दावा किया कि आईएस पश्चिमी देशों और मुस्लिम जगत के बीच झगड़ा करवाना चाहता है ताकि उसे और ज्यादा समर्थक मिल सकें और इसी मकसद से वह यह अफवाह फैला रहा है अमेरिका मुस्लिम देशों पर अपना कब्जा जमाना चाहता है.
बाफ्टा पुरस्कार 2016 : 'द रेवेनेंट' सर्वश्रेष्ठ फिल्म, लियोनार्डो डि कैप्रियो सर्वश्रेष्ठ अभिनेता
इस साल के ब्रिटिश अकादमी फिल्म एवं टेलीविजन आर्ट्स पुरस्कार (बाफ्टा पुरस्कार) समारोह में लियोनार्डो डि कैप्रियो की फिल्म 'द रेवेनेन्ट' ने सबसे ज्यादा पुरस्कार जीते हैं. जहां इस फिल्म को सर्वश्रेष्ठ फिल्म का पुरस्कार मिला है वहीं इसमें बेजोड़ अभिनय के लिए लियोनार्डो को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता चुना गया. साथ ही एलेजैंड्रो जी इनयारिटू को इस फिल्म के लिए सर्वश्रेष्ठ निर्देशक के पुरस्कार से सम्मानित गया है. इस साल का सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का पुरस्कार 'रूम' फिल्म की नायिका ब्री लार्सन को मिला है. बता दें कि फिल्म द रेवेनेंट ने रिलीज के बाद दुनियाभर में तारीफ बटोरी है और इस फिल्म को आगामी ऑस्कर पुरस्कार का बड़ा दावेदार माना जा रहा है.
तानाशाह किम जोंग ने और उपग्रहों का प्रक्षेपण करने का ऐलान किया
उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन ने अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंधों की परवाह न करते हुए और उपग्रहों का छोड़ने का ऐलान किया है. इस महीने की शुरुआत में छोड़े गए उपग्रह के निर्माण और इस परियोजना से जुड़े लोगों को धन्यवाद देने के लिए रखे गए एक कार्यक्रम में किम जोंग उन ने यह बात कही है. इस दौरान किम ने एक बार फिर दोहराया कि उन्होंने किसी मिसाइल का परीक्षण नहीं किया था बल्कि एक उपग्रह को कक्षा में स्थापित किया था और इसी श्रंखला को आगे बढाते हुए वह अभी और उपग्रहों का प्रक्षेपण करेंगे. बता दें कि इसी महीने उत्तर कोरिया के द्वारा छोड़े गए एक उपग्रह पर अंतरराष्ट्रीय जगत में तीखी प्रतिक्रिया दी थी. दक्षिण कोरिया और अमेरिका ने दावा किया था कि उत्तर कोरिया ने उपग्रह प्रक्षेपण की आड़ में लंबी दूरी की मिसाइल तकनीक का परीक्षण किया है. इसके बाद जापान, अमरीका और दक्षिण कोरिया ने उत्तर कोरिया पर कई नए प्रतिबंध लगा दिए थे.