आज के दिन सोशल मीडिया पूरी तरह होलीमय रहा. आम लोगों से लेकर सेलिब्रिटी तक होली की शुभकामनाएं देते रहे या फिर होली मनाते हुए अपनी तस्वीरें फेसबुक और ट्विटर पर शेयर करते रहे. इसके अलावा क्रिकेट विश्वकप में भारत और वेस्टइंडीज के मैच पर भी बीचबीच में बात चलती रही जिससे यह भी एक ट्रेंडिंग टॉपिक बन गया. दूसरी खबरों में नागालैंड की राजधानी दीमापुर में भीड़ द्वारा बलात्कार के एक संदिग्ध आरोपी की हत्या का मामला भी ऐसा था जिसपर कई लोगों ने बात की.
आयुष्मान खुराना | @ayushmannk
सामी (डेरेन) यदि तुम अदनान होते तो कम से कम हमारे लिए होली पर गाना ही सुना देते!
पंकज पचौरी | @PankajPachauri
पुरुषवादी मानसिकता के असली रंग होली के दिन दिखे. क्या हम इस तरह की मानसिकता पर प्रतिबंध नहीं लगा सकते? क्या हम ऐसे पोस्टरों पर प्रतिबंध नहीं लगा सकते?
महेश भट्ट | @MaheshNBhatt
जिम्मेदारी परंपरागत मीडिया का महत्वपूर्ण हिस्सा है लेकिन कुछ लोग सूचना या जानकारियों को ऑनलाइन शेयर करके और एक्सेस करके यह जिम्मेदारी एक किनारे रख देते हैं. 
किरण बेदी | @thekiranbedi
इंडियाज डॉटर डॉक्यूमेंटरी रेपिस्ट की मानसिकता को उजागर करती है. सामाजिक बदलाव के लिए इसका इस्तेमाल किया जा सकता है...
विक्रम सथाए | @vikramsathaye
क्रिकेट में इलेक्ट्रिक गिल्लियों और स्टंपों का इस्तेमाल इसलिए शुरू हुआ है ताकि धोनी उन्हें बार-बार मैच जीतने के बाद घर न ले जा सकें!