उच्च न्यायालयों के मुख्य न्यायाधीशों की बैठक के समय को लेकर पैदा हुआ विवाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक भी पहुंच गया है. सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश जस्टिस कुरियन जोसफ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आयोजित डिनर में भाग लेने से इनकार कर दिया है. उन्होंने कहा कि त्योहार के मद्देनजर शनिवार को वे केरल में अपने परिवार के बीच रहेंगे. उनका कहना है कि यह आयोजन और न्यायाधीशों का सम्मेलन गुड फ्राइडे और ईस्टर के दिन रखा गया.
जस्टिस जोसफ इसलिए नाराज हैं कि यह आयोजन और न्यायाधीशों का सम्मेलन गुड फ्राइडे और ईस्टर के दिन रखा गया.
प्रधानमंत्री मोदी को लिखी अपनी चिट्ठी में जस्टिस जोसफ ने कहा है कि आयोजन की तारीख तय करते वक्त सभी धर्मों के खास महत्व वाले दिनों का खयाल रखा जाना चाहिए था. उनका कहना है कि जिस तरह होली, दीवाली और ईद जैसे त्योहारों के दिन किसी भी तरह का सरकारी आयोजन नहीं होता है, उसी तरह गुड फ्राइडे का खयाल भी रखा जाना चाहिए था. जस्टिस जोसफ ने अपनी चिट्ठी में उम्मीद जताई है कि केंद्र सरकार आगे से इस बात का खयाल रखेगी. वे इससे पहले इस बारे में मुख्य जस्टिस एचएल दत्तू को भी चिट्ठी लिख चुके हैं.
आडवाणी के 'संबोधन' के बिना भाजपा का मंथन समाप्त
भारतीय जनता पार्टी के सबसे पुराने और सबसे बुजुर्ग नेता लालकृष्ण आडवाणी के भाषण के बगैर की पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक खत्म हो गई है. पिछले 35 सालों में यह दूसरा मौका है जब आडवाणी ने पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में भाषण नहीं दिया. इससे पहले पिछले साल गोवा में हुई बैठक से उनके अनुपस्थित रहने के चलते भी उनका संबोधन नहीं हो सका था. सूत्रों के मुताबिक आडवाणी ने इस बार बेंगलुरु में चल रही बैठक के समापन के मौके पर भाषण इस लिए नहीं दिया क्योंकि वे उन खबरों से नाराज थे जिनके मुताबिक उनका नाम वक्ताओं की सूची में शामिल नहीं किया गया था. बताया जा रहा है कि खुद पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के आग्रह के बावजूद उन्होंने बैठक को संबोधित करने से इंकार कर दिया. बहरहाल इस बैठक को संबोधित करते हुए प्रधानंमत्री नरेंद्र मोदी ने उनकी खूब तारीफ की. मोदी ने कहा कि आज वे जिस मुकाम पर हैं, उऩके वहां पहुंचने में आडवाणी जी का बड़ा योगदान है. खबर है कि आडवाणी के भाषण देने से इनकार के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनसे मुलाकात की है.
मलेशिया ओपन से बाहर हुईं साइना
भारत की बैटमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल फिर मलेशिया ओपन सुपर सीरीज प्रीमियर बैड़मिंटन टूर्नामेंट से बाहर हो गई हैं. पांच लाख डॉलर की ईनामी राशि वाले इस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में उन्हें ओलंपिक चैम्पियन ली शुरुरूई से हार का सामना करना पड़ा. यह ग्यारह मुकाबलों में नौवीं बार है जब साइना को इस चीनी खिलाड़ी के आगे हथियार डालने पड़े हैं. तीन सेटों तक चले इस मुकाबले में साइना पहला सेट जीत गई थीं, लेकिन इसके बाद वे मैच से पकड़ खोती गईं और आखिर में 21-13, 17-21. 20-22 से मुकाबला हार गईं. इस हार के बाद साइना के सर से दुनिया की नंबर एक महिला बैटमिंटन खिलाड़ी का ताज हटना भी तय हो गया है. वे हफ्तेभर पहले ही दुनिया की नंबर एक महिला बैटमिंटन खिलाड़ी बनीं थी.