प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके नायब अमित शाह के खिलाफ कई भाजपाइयों के अंदर-ही अंदर सुलगते रहने की खबरें आए दिन आती रहती हैं. लेकिन अब पहली बार इस चिंगारी ने खुल कर अपनी उपस्थिति दिखा दी है. पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता अरुण शौरी ने मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और वित्तमंत्री अरुण जेटली पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया है कि यह त्रिमूर्ति ही पूरी भाजपा को चला रही है. एक समाचार चैनल को दिए इंटरव्यू में उन्होंने यह बात कही. पूर्व प्रधानमंत्री अट‍ल बिहारी वाजपेयी की सरकार में अहम भूमिका निभाने वाले अरुण शौरी ने इस इंटरव्यू में कई मुद्दों को लेकर इन तीनों पर निशाने साधे. शौरी के निशाने पर सबसे ज्यादा प्रधानमंत्री मोदी ही रहे. उन्होंने मोदी को एक तरफ देश की अर्थव्यस्था को ठीक से चला पाने में नाकाम बताया, तो दूसरी तरफ अल्पसंख्यकों पर हो रहे जुबानी हमलों के लिए भी जिम्मेदार ठहराया. इसके अलावा उन्होंने अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा से मुलाकात के दौरान मोदी द्वारा पहने गए 'उस' विवादित सूट को लेकर भी उनकी आलोचना की. अरुण शौरी की यह नाराजगी ऐसे वक्त में सामने आई है, जब कुछ ही दिन बाद केंद्र सरकार अपना एक साल का कार्यकाल पूरा करने वाली है. ऐसे में भाजपा के अंदर हलचल मचना स्वाभाविक है. माना जा रहा है कि कुछ और नेता भी पार्टी के अंदर पनपी आलाकमान संस्कृति को लेकर अपना विरोध जता सकते हैं.
साक्षी महाराज ने फिर फैलाई 'गंदगी'
आनाप-शनाप बयानों के लिए कुख्यात हो चुके भाजपा सांसद साक्षी महाराज ने फिर एक विवादित बयान दे दिया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ करने के फेर में उन्होंने नेपाल को लेकर उन्होंने ऐसी बात कही जिसे भूकंप से उबरने की कोशिश कर रहे इस देश का अपमान करने वाला कहना कहीं से भी गलत नहीं होगा. उन्होंने कहा है कि प्रधानमंत्री मोदी ने नेपाल को ऐसे बचाया है जैसे कृष्ण ने द्रौपदी को बचाया था. इसके अलावा कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी को लेकर भी साक्षी महाराज ने बेहद आपत्तिजनक बयान दिया है. राहुल गांधी को पागल करार देते हुए उन्होंने कहा है कि वे पगला गए हैं और उन्हें राजनीति की एबीसीडी नहीं आती. साक्षी महाराज ने यह बयान किसानों के बीच राहुल गांधी की बढती सक्रियता को देखते हुए दिया है. उनका यह भी कहना था कि राहुल गांधी खेती के बारे में कुछ भी नहीं जानते हैं और किसानों का हमदर्द बनने का दिखावा कर रहे हैं. साक्षी महाराज के इन बयानों का विरोध भी शुरू हो गया है. कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी पार्टियों ने उनके बयानों की जमकर आलोचना की है. गौरतलब है कि साक्षी महाराज इससे पहले भी राहुल गांधी के खिलाफ कई बार आपत्तिजनक बातें कह चुके हैं. कुछ दिन पहले ही उन्होंने कहा था कि राहुल गांधी के केदारनाथ यात्रा करने की वजह से ही नेपाल और भारत में भूकंप आया था.
पुत्रजीवक दवा पर बोले रामदेव - मेरे जरिए प्रधानमंत्री को निशाना बनाने की कोशिश
पुत्रजीवक दवा को लेकर संसद में उठे बवाल पर योगगुरु रामदेव ने पलटवार किया है. विपक्षी दलों पर अपनी दवा को लेकर भ्रम फैलाने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा है कि, 'पुत्रजीवक' सिर्फ दवा का नाम है और इसका बेटा या बेटी से कोई लेना देना नहीं है. रामदेव ने कहा कि, उन पर सवाल उठाने वाले लोगों को आयुर्वेद की जानकारी नहीं है. उन्होंने विपक्षी पार्टियों पर उनकी (रामदेव) आड़ लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि खराब करने का आरोप भी लगाया. रामदेव का कहना था, 'कुछ लोग मेरे सहारे मोदी को निशाना बनाना चाहते हैं.' विपक्षी दलों द्वारा पुत्रजीवक दवा का नाम बदले जाने की मांग के बीच उन्होंने कहा कि वे इस दवा का नाम नहीं बदलेंगे. हालांकि उनका यह भी कहना था कि वे इस दवा के पैकेट पर एक लाइन जुड़वा देंगे जिसमें लिखा होगा कि इसका पुत्र व पुत्री के होने से कोई संबंध नहीं है. रामदेव की इस सफाई को लेकर विपक्षी दलों की प्रतिक्रियएं भी सामने आई हैं. माकपा नेत्री वृंदा करात ने कहा है कि खुद को बचाने के लिए रामदेव इस विवाद में प्रधानमंत्री मोदी का नाम जोड़ रहे हैं. गौरलतब है कि रामदेव के स्वामित्व वाली पतंजलि योगपीठ की एक दवा दवा 'पुत्रजीवक बीज' को लेकर जेडी (यू) सांसद केसी त्यागी ने राज्यसभा में सवाल उठाया था. उन्होंने आरोप लगाया था कि इस दवा के सहारे रामदेव लड़का पैदा करने की मानसिकता को बढावा दे रहे हैं. त्यागी के इस बयान का कई दूसरे नेताओं ने भी समर्थन किया था, जिसके बाद केंद्र सरकार ने इस मामले में जांच करने की बात कही है.