नए वित्त वर्ष की शुरुआत के साथ ऑटोमोबाइल कंपनियां अपनी बिक्री बढ़ाने की कवायद में जुट गयी हैं. इसके तहत देश की सभी प्रमुख कार कंपनियां इस साल कई नए मॉडल लॉन्च करने वाली हैं. वहीं बहुत से पुराने मॉडलों के लाजवाब प्रदर्शन और ग्राहकों में बनी उनकी पैठ को देखते हुए कार निर्माता उनका प्रोडक्शन नहीं रोकना चाहते. ग्राहकों को लुभाने के लिए ये कंपनियां अपनी नयी कारों के साथ इन पुरानी गाड़ियों के फीचर्स और लुक्स में खास बदलाव कर इस साल उन्हें अलग ही अंदाज में पेश करने जा रही हैं.

ह्युंडई एक्सेंट फेसलिफ्ट

टाटा टिगोर के लॉन्च होने के बाद से कॉम्पेक सेडान सेगमेंट में खासी प्रतिस्पर्धा देखने को मिल रही है. इसी क्रम में देश में दूसरी बड़ी पैसेंजर कार निर्माता कंपनी ह्युंडई इस गुरुवार अपनी लोकप्रिय सेडान एक्सेंट का फेसलिफ्ट वर्जन लाने जा रही है. ह्युंडई ने इसी फरवरी अंतरराष्ट्रीय ऑटो-शो में एक्सेंट फेसलिफ्ट की पहली झलक दिखलाई थी. बताया जा रहा है कि नयी एक्सेंट का लुक हाल ही में लॉन्च हुई ग्रांड आई-10 फेसलिफ्ट से काफी मिलता-जुलता नजर आएगा जिसमें एक नई ग्रिल भी शामिल है.

ह्युंडई एक्सेंट
ह्युंडई एक्सेंट

यदि नई एक्सेंट के इंजन की बात करें तो गाड़ी के पेट्रोल इंजन में कंपनी ने कोई बदलाव नहीं किया है लेकिन इसके डीजल इंजन को पहले से ज्यादा बेहतर किया गया है जो 1.2 लीटर क्षमता के साथ तीन सिलेंडर से लैस है. ह्युंडई ने एक्सेंट फेसलिफ्ट में ऐपल कार प्ले और एंड्रॉइड ऑटोमेक्स के साथ सात इंच का नया टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम दिया है जो किसी भी गाड़ी के इंटीरियर को खास बना सकता है. इससे पहले यह सिस्टम ग्रांड आई-10 में देखने को मिला था. फिलहाल एक्सेंट बाजार में 5.44 लाख रुपए से 7.89 लाख रुपए (एक्सशोरूम कीमत) में उपलब्ध है. माना जा रहा है कि नयी एक्सेंट की कीमत 5.50 लाख से लेकर आठ लाख रुपए तक जा सकती है. इसकी टक्कर टाटा टिगोर, मारूति स्विफ्ट डिजायर, फोर्ड एस्पायर स्पोर्ट्स, होंडा अमेज और टाटा जेस्ट से होगी.

मारूति सुजुकी स्विफ्ट डिजायर रेंज एक्सटेंडर

कॉम्पेक सेडान सेगमेंट पर राज करने वाली स्विफ्ट डिजायर जल्द ही अपने नए अवतार में नजर आ सकती है. हाल ही में इस गाड़ी से जुड़ी कुछ तस्वीरें मीडिया में लीक हुई हैं. बताया जा रहा है कि यह नई कार दिखने में इसी साल जापान में लॉन्च हुई स्विफ्ट हैचबैक से मिलती-जुलती और अपने पुराने वर्जन से काफी हटकर होगी. सूत्रों की मानें तो नयी स्विफ्ट एलईडी हेडलाइट्स के साथ आएगी जो इसे प्रीमियम लुक देगी. साथ ही नयी गाड़ी का फ्रंट लुक भी पहले से कहीं ज्यादा अग्रेसिव होगा जिसमें एलईडी प्रोजेक्टर और डीआरएल लगे हैं. हालांकि ये फीचर्स कार के हायर वैरिएंट में देखने को मिलेंगे. यदि आप लोअर वैरिएंट खरीदने की सोच रहे हैं तो आपको थोड़ी निराशा हो सकती है. इस वैरिएंट के साथ आपको रेग्यूलर रिफलेक्टर टाइप हैलोजन हेडलैंप्स से ही काम चलाना पड़ेगा.

मारूति सुजुकी स्विफ्ट रेंज एक्सटेंडर
मारूति सुजुकी स्विफ्ट रेंज एक्सटेंडर

इंटीरियर्स के मामले में भी इस कार को पिछले वर्जन से अपडेट किया गया है. इसमें मारूति के स्मार्टप्ले इंफोटेनमेंट सिस्टम के साथ नेविएगेशन के लिए ऑनबोर्ड जीपीएस सिस्टम उपलब्ध होगा. बताया जा रहा है कि इस कार को बलेनो के प्लेटफॉर्म पर तैयार किया रहा है जिसके अपेक्षाकृत हल्का होने से इस कार के माइलेज में बढ़ोतरी की उम्मीद की जा सकती है. डिजायर के मौजूदा वैरिएंट की बात जाए तो कंपनी के मुताबिक इसका 1.2 लीटर पेट्रोल इंजन 20.85 किमी/लीटर और 1.25 लीटर डीज़ल इंजन 26.59 किमी/लीटर की बेहतरीन माइलेज दे रहा है. बताया जा रहा है कि यह कार सेगमेंट में मौजूद टाटा, होंडा और ह्युंडई की परेशानियां और बढ़ा सकती है. यह गाड़ी इस साल जुलाई-अगस्त तक बाजार में उपलब्ध हो सकती है.

शेवरले बीट एक्टिव

लंबे समय से बाजार में जगह तलाश रही शेवरले इस साल जून/जुलाई में लॉन्च होने वाली क्रॉसओवर बीट एक्टिव से उम्मीदें लगाए हुए है. कम कीमतों में भी अपेक्षाकृत बेहतर क्वालिटी और फीचर्स देने के बावजूद अमेरिकन ऑटोमोबाइल कंपनी शेवरले भारतीय बाजार में कुछ खास कमाल नहीं कर पायी है. ऐसे में कंपनी ने यहां ज्यादा गाड़ियां लॉन्च कर ग्राहकों को अपनी ओर लुभाने की रणनीति बनाई है. हाल ही में शेवरले की लॉन्च हुई एसयूवी ट्रेलब्लेज़र इसी कोशिश का एक हिस्सा है. अब कंपनी अगले कुछ महीनों में क्रॉसऑवर बीट एक्टिव लॉन्च करने का मन बना रही है. बीट एक्टिव को सबसे पहले कंपनी ने 2016 ऑटो-एक्सपो में पेश किया था. तब इसे बाजार से जबरदस्त प्रतिक्रिया मिली थी. यह गाड़ी नयी बीट हैचबैक पर आधारित होगी जो अभी तक भारत में लॉन्च नहीं हुई है. नए फ्रंट और रियर बंपर के साथ नयी रूफरेल्स और चांरो तरफ काले रंग की क्लैडिंग इसे एक स्पोर्टी क्रॉसओवर का लुक देती है. बताया जा रहा है कि इस नयी कार में प्रोजेक्टर हैडलैंप्स के साथ एलईडी डे-टाइम रनिंग लैंप्स और फॉग लैंप्स दिए जाएंगे.

शेवरोले बीट एक्टिव
शेवरोले बीट एक्टिव

इंटीरियर्स के लिहाज से भी बीट एक्टिव में खासे बदलाव देखने को मिल सकते हैं. सूत्रों की मानें तो यह नई क्रॉसओवर ऑटोमेटिक क्लाइमेट कंट्रोल और ऑडियो स्ट्रीमिंग के साथ ब्लूटूथ इनेबल्ड म्यूजिक सिस्टम से लैस होगी. हालांकि अभी तक यह साफ नहीं हो पाया है कि बीट एक्टिव पेट्रोल वेरिएंट में उपलब्ध होगी या डीजल वैरिएंट अथवा दोनों में. बीट एक्टिव की कीमतों का खुलासा नहीं हुआ है लेकिन माना जा रहा है कि इसका सीधा मुकाबला ह्युंडई आई-20 एक्टिव और फॉक्सवैगन पोलो क्रॉस से हो सकता है.

मारूती सुजुकी वैगन-आर डीजल

ऑटोमोबाइल सेक्टर से जुड़े विशेषज्ञों का मानना है कि बढ़ते पेट्रोल के दामों और ट्रैफिक के साथ सिकुड़ती सड़कों को देखते हुए भारतीय ऑटोमोबाइल बाजार का भविष्य डीज़ल कॉम्पेक्ट हैचबैक कारों में है. इस संभावना को ध्यान में रखते हुए प्रमुख कार निर्माता कंपनियों ने इस दिशा में काम करना शुरू भी कर दिया है. सूत्रों की मानें तो साल के अंत तक मारूति सुजुकी की बहुप्रतिक्षित वैगन-आर डीज़ल बाजार में नजर आ सकती है. फिलहाल वैगन-आर बारह अलग-अलग वेरिएंट्स में उपलब्ध है. इनमें से छह पेट्रोल मैनुअल ट्रांसमिशन, चार पेट्रोल ऑटोमेटिक और दो पेट्रोल/सीएनजी वेरिएंट हैं. इन गाड़ियों की कीमत 4.15 लाख रुपए से 5.36 लाख रुपए (एक्स शोरूम) तक है. सेगमेंट में शानदार प्रदर्शन के चलते ग्राहकों को पिछले लंबे समय से वैगन-आर के डीज़ल वेरिएंट का इंतजार है. बताया जा रहा है कि डीज़ल इंजन के साथ वैगन-आर ह्युंडई ग्रांड आई-10 और शेवरले बीट को कड़ी टक्कर दे सकती है. हालांकि अभी तक इसके इंजन की क्षमताओं और कीमतों के बारे में खुलासा नहीं हुआ है. लेकिन जानकारों का मानना है कि मारूति के हालिया रुख को देखते हुए कहा जा सकता है कि नयी वैगन-आर में आकर्षित करने वाले अहम बदलाव देखने को मिल सकते हैं.

मारूति सुजुकी वैगन-आर वीएक्सआई+
मारूति सुजुकी वैगन-आर वीएक्सआई+

इससे पहले जनवरी में मारूति ने वैगन-आर के वीएक्सआई+ ट्रिम को लॉन्च किया था. इसमें सेगमेंट के पहले प्रोजेक्टर हैडलैंप्स देखने को मिले थे. फिलहाल मारूति सुजुकी के सभी वेरिएंट में फिएट का एक ही डीज़ल इंजन इस्तेमाल में लाया जा रहा है. जानकारों का कहना है कि वैगन-आर डीज़ल के लिए कंपनी 1.0 लीटर और तीन सिलेंडर का इंजन विकसित कर सकती है जो मौजूदा सभी वेरिएंट्स की तरह 5-बॉक्स ऑटोमेटिक और मैनुअल ट्रांसमिशन बॉक्स के साथ जुड़ा होगा.

फोर्ड इकोस्पोर्ट फेसलिफ्ट

भारतीय कार बाजार में इकोस्पोर्ट अमेरिकन ऑटोमोबाइल कंपनी फोर्ड के लिए संजीवनी साबित हुई थी. देश की पहली सबकॉम्पेक्ट एसयूवी कारों में शुमार इस गाड़ी को मिली प्रतिक्रिया शानदार रही. बताया जा रहा है कि कंपनी इकोस्पोर्ट की इसी छवि को भुनाते हुए उसमें कुछ नए बदलाव कर बाजार में वापसी करना चाहती है. जानकार बताते हैं कि नयी इकोस्पोर्ट को टेस्टिंग के दौरान सड़कों पर कई बार देखा जा चुका है. गाड़ी के लुक्स में अहम बदलाव की बात करें तो इकोस्पोर्ट की पहचान बना स्पेयर व्हील जो पीछे लगता था इसके नए वैरिएंट में नहीं दिखायी देगा. गाड़ी के फ्रंट में फोर्ड ने हेडलैंप और उनके नीचे वाली स्किड प्लेट में मामूली परिवर्तन के अलावा कुछ खास बदलाव नहीं किए हैं. इसके अलावा इकोस्पोर्ट फेसलिफ्ट में 17 इंच से बड़े अलॉय व्हील्स भी देखने को मिल सकते हैं जो इसे पहले से ज्यादा ऊंची बनाएंगे. इंटीरियर्स के मामले में भी इकोस्पोर्ट कुछ नई सौगातों से लैस होने वाली है.

फोर्ड इकोस्पोर्ट फेसलिफ्ट
फोर्ड इकोस्पोर्ट फेसलिफ्ट

बताया जा रहा है कि इसमें पहले से बेहतर इंफोटेनमेंट स्क्रीन देखने को मिलेगी. इसके अलावा इकोस्पोर्ट फेसलिफ्ट के केबिन में इस तरह के मटीरियल का इस्तेमाल किया जाएगा जिससे भीतर इंजन की आवाज पहले से कम सुनाई दे. बैठने के लिहाज से कार में कुछ बदलाव नहीं किए गए हैं लेकिन स्पेयर व्हील अंदर रखे जाने के कारण गाड़ी के बूट स्पेस से किया समझौता ग्राहकों को अखर सकता है.

परफॉर्मेंस के लिहाज से बताया जा रहा है कि इकोस्पोर्ट फेसलिफ्ट सेगमेंट में एक बेहतरीन विकल्प बनकर साबित हो सकती है. यह तीन अलग-अलग वेरिएंट्स में उपलब्ध होगी. 1 लीटर क्षमता के साथ इसका इकोबूस्ट इंजन 125 पीएस की अधिकतम पॉवर के साथ 170 एनएम का अधिकम टॉर्क उत्पन्न करेगा. 1.5 लीटर क्षमता वाला पेट्रोल इंजन 112 पीएस पॉवर के साथ 140 एनएम का अधिकतम टॉर्क देगा और 1.5 लीटर क्षमता का डीज़ल इंजन 91 पीएस पॉवर के साथ 204 एनएम का अधिकतम टॉर्क उत्पन्न करेगा. इनमें से 1.5 लीटर पेट्रोल इंजन मैनुअल के साथ ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन बॉक्स से लैस होगा. फोर्ड ने अभी तक इकोस्पोर्ट फेसलिफ्ट की कीमतों का खुलासा नहीं किया है.